Sunday, Dec 05, 2021
-->
retired officers will complete road projects of ladakh sohsnt

सेवानिवृत्त अधिकारी पूरी करेंगे लद्दाख की सड़क परियोजनाएं, जोखिम भत्ते में 733% बढ़ोतरी

  • Updated on 10/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन सीमा विवाद (India China Border Dispute) को लेकर जारी गतिरोध के बीच भारत सरकार (Indian Govt) चीन और बांग्लादेश (Bangladesh) की सीमा से राष्ट्रीय राजमार्गों का संपर्क सुदृढ़ करने की दिशा में कार्य तेज करने जा रही है। ऐसे में सरकार इस कार्य के लिए तीनों सेनाओं सहित केंद्र व राज्य सरकार के शीर्ष स्तर के सेवानिवृत्त अधिकारियों की सेवाएं लेगी।

दिल्ली प्रदूषण के लिए पाकिस्तान भी जिम्मेदार, जानें कैसे जहरीली कर रहा राजधानी की हवा

महत्वपूर्ण राजमार्ग को जल्द किया जाना है पूरा
दरअसल, ऐसे कदम उठाने के पीछे सरकार का मकसद लद्दाख, कश्मीर, हिमाचल, उत्तराखंड व पूर्वोत्तर के राज्यों में सामरिक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण राजमार्ग परियोजनाओं को जल्द से जल्द पूरा करना है। दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में विषम परिस्थितियों को देखते हुए सरकार ने हाल में जोखिम भत्ते में 733 फीसदी का बढ़ोतरी  भी की है।

World Bank ने भारत को चेताया, CORONA के कारण बंद स्कूलों से 40 अरब डॉलर का नुकसान...

ये है आवेदन जमा करने की अंतिम तारीख
इस योजना को जल्द धरती पर उतारने के लिए सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के सर्वाजनिक उपक्रम राष्ट्रीय राजमार्ग एवं अवसंरचना विकास निगम लिमिटेड ने बीते 05 अक्टूबर से ठेके पर भर्ती के लिए सेवानिवृत्त अधिकारियों से आवेदन मांगे हैं। यहां आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तारीख 02 नवंबर, 2020 निर्धारित की गई है।

भारतीय अर्थव्यवस्था पर IMF का अनुमान- 2021 में चीन को पछाड़ देगा भारत

इतना होगा मासिक वेतन
दरअसल, तकनीकी अथवा परियोजना पद पर कार्यकारी निदेशक, महाप्रबंधक, उप महाप्रबंधक, प्रबंधक, महाप्रबंधक (भूमि अधिग्रहण), उप महाप्रबंधक (वित्त) पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए हैं। इसके साथ ही भर्ती किए गए महाप्रबंधक को एक लाख 81 हजार से दो लाख 25 हजार रुपये वेतन व 36,000 रुपये जोखिम भत्ता, उप महाप्रबंधक को एक लाख 20 हजार से एक लाख 75 हजार रुपये व 32,000 रुपये जोखिम भत्ता, प्रबंधक को एक लाख 10 हजार से डेढ लाख रुपये वेतन व 24,000 रुपये जोखिम भत्ता निर्धारित किया गया है।

लद्दाख सीमा विवाद के बीच ताइवान को रास आई भारत की दोस्ती, चीन से कहा- 'भाड़ में जाओ'

जानें क्या है योग्यता
आवदेन हेतु उम्मीदवारों की योग्यता सिविल इंजीनियर, मैकेनिकल इंजीनियर, इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री व निश्चित कार्यकाल का अनुभव होना चाहिए। इसके अलावा शीर्ष अधिकारियों की आयु 61 साल से अधिक होनी चाहिए। मिली जानकारी के मुताबिक, सीमा सड़क संपर्क जैसी अति महत्वपूर्ण परियोजनओं के लिए एनएचएआईडीसीएल में हाईवे इंजीनियरों की स्थायी भर्ती नहीं हो रही है।

comments

.
.
.
.
.