Sunday, Sep 19, 2021
-->
review of congress defeat in bihar election meeting today djsgnt

बिहार चुनाव में काग्रेस के हार की समीक्षा बैठक आज, सोनिया गांधी समेत दिग्गज नेता करेंगे मंथन

  • Updated on 11/17/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) और देशभर में हुए उपचुनाव में मिली हार से खफा कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने विशेष समिति की बैठक बुलाई है। गांधी ने यह बैठक मंगलवार को शाम 5 बजे बुलाई है। बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी हालांकि बैठक का एजेंडा तय नहीं है। कांग्रेस की यह बैठक एक ऐसे समय में हो रहा है जब चुनाव में हार के बाद कांग्रेस में समीक्षा का मुद्दा उभर रहा है। 

EVM को लेकर बंटी कांग्रेस! उदित राज के हैक के दावे को कार्ति चिदंबरम ने किया खारिज

आत्मविश्लेषण का समय
गौरतलब है कि इससे पहले कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) ने बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) के ताजा बयान को लेकर सोमवार को कहा कि यह कांग्रेस (Congress) के लिए आत्मविश्लेषण, चिंतन और विचार-विमर्श करने का समय है।

सिब्बल के बयान पर हुए कार्ति चिदंबरम का ट्वीट
दरअसल, सिब्बल ने अंग्रेजी दैनिक 'इंडियन एक्सप्रेस' को दिए साक्षात्कार में कहा है कि ऐसा लगता है कि पार्टी नेतृत्व ने शायद हर चुनाव में पराजय को ही अपनी नियति मान ली है। उन्होंने यह भी कहा कि बिहार ही नहीं, उपचुनावों के नतीजों से भी ऐसा लग रहा है कि देश के लोग कांग्रेस पार्टी को प्रभावी विकल्प नहीं मान रहे हैं। सिब्बल ने सोमवार को अपने इस साक्षात्कार का लिंक साझा करते हुए ट्वीट किया तो इसे रिट्वीट करते हुए कार्ति चिदंबरम ने कहा, 'यह आत्मविश्लेषण, चिंतन और विचार-विमर्श करने का समय है।'

कांग्रेस को लेकर RJD के बयान की BJP ने ली चुटकी, कहा- राहुल गांधी को ओबामा से ज्यादा जानने लगे

सिब्बल ने सोनिया-राहुल पर साधा निशाना
बिहार में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन को लेकर कांग्रेस महासचिव तारिक अनवर (Tariq Anwar) के बाद वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर निशाना साधा है। इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में सिब्बल ने कहा कि देश के लोग, सिर्फ बिहार में ही नहीं, बल्कि जहां भी उपचुनाव हुए, वहां उन्होंने स्पष्ट रूप से कांग्रेस को एक प्रभावी विकल्प नहीं माना। यह एक निष्कर्ष है। आखिर बिहार में विकल्प राजद ही था।

comments

.
.
.
.
.