Wednesday, Jun 03, 2020

Live Updates: Unlock- Day 3

Last Updated: Wed Jun 03 2020 05:30 PM

corona virus

Total Cases

208,709

Recovered

100,419

Deaths

5,834

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA72,300
  • TAMIL NADU24,586
  • NEW DELHI22,132
  • GUJARAT17,632
  • RAJASTHAN9,373
  • UTTAR PRADESH8,729
  • MADHYA PRADESH8,420
  • WEST BENGAL6,168
  • BIHAR4,096
  • KARNATAKA3,796
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA2,891
  • JAMMU & KASHMIR2,718
  • HARYANA2,652
  • PUNJAB2,342
  • ODISHA2,245
  • ASSAM1,562
  • KERALA1,413
  • UTTARAKHAND1,043
  • JHARKHAND722
  • CHHATTISGARH564
  • TRIPURA471
  • HIMACHAL PRADESH345
  • CHANDIGARH301
  • MANIPUR89
  • PUDUCHERRY79
  • GOA79
  • NAGALAND58
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA30
  • ARUNACHAL PRADESH28
  • MIZORAM13
  • DADRA AND NAGAR HAVELI4
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
rss active on ayodhya case mohan bhagwat may address the country after the verdict

सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद RSS प्रमुख ने कहा- अयोध्या में मिलजुल कर बनाएंगे राम मंदिर

  • Updated on 11/9/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई के फैसले के बाद मोहन भागवत कर रहें हैं देश को संबोधित। 

अयोध्या (Ayodhya) राम जन्म भूमि- बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला देते हुए विवादित जमीन राम जन्मभूमि न्यास को दे दिया है। जबकि मुस्लिम पक्षकारों को 5 एकड़ उपयुक्त भूमि कहीं और मिली है।

मोहन भागवत ने सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का स्वागत किया।  

अयोध्या मामले पर फैसले से पहले 450 से अधिक गिरफ्तार, 12 हजार पर रखी जा रही नजर

राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला  किसी भी समय आ सकता है। राज्य में शांति व सुरक्षा कायम रखने के लिए पुलिस और प्रशासन सर्तक है। सूबे में किसी भी तरह की अप्रिय घटना से बचने के लिए प्रशासन के साथ-साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

स्वयंसेवकों की तैनाती करेगा संघ
अपुष्ट सूत्रों की माने तो कोर्ट के प्रस्तावित फैसले को लेकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने भी तैयारियां शुरु कर दी है। संघ फैसले के वक्त देशभर में सुरक्षा के लिए अपने करीब हजार स्वयंसेवकों की तैनाती करेगा, जो देश भर में शांति बहाल रखने की अपील करेंगे। माना जा रहा है कि फैसला आने के बाद संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) या सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी देश को संबोधित भी कर सकते हैं।

अयोध्या विवाद: फैसले से पहले अलर्ट, पूर्व मंत्री और पूर्व विधायक सहित 10 को जिला छोड़ने का नोटिस

शांति कायम रखने की अपील
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) राम मंदिर पर फैसले से पहले लोगों तक अपनी पहुंच बनाने में लगा हुआ है। संघ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, संघ अपने स्वयंसेवकों को पहले ही हिदायत दे चुका है कि फैसला किसी भी पक्ष में हो शांति और सुरक्षा का ध्यान सर्वपरि है। फैसला अगर पक्ष में आया तो लोग अपने घर और स्थानीय मंदिरों में दिए जलाकर जश्न मनाएं, लेकिन फैसला खिलाफ आया तो भी हम शांति बहाल रखने के पक्ष में हैं।

ममता बनर्जी ने नोटबंदी को बताया व्यर्थ कदम, कहा- अर्थव्यवस्था पर पड़ा नकारात्मक प्रभाव

संघ और बीजेपी के बीच हुई बैठक

इसी बीच वृहस्पतिवार को नई दिल्ली स्थिति नए महाराष्ट्र सदन में संघ और बीजेपी के नेताओं के बीच बैठक हुई। बैठक में संघ से कृष्ण गोपाल, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, नरेंद्र सिंह तोमर, संतोष गंगवार, पार्टी के फायरब्रांड नेता गिरिराज सिंह सहित तमाम वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री शामिल हुए।

comments

.
.
.
.
.