Wednesday, Jun 16, 2021
-->
rss calls violence in west bengal pre-planned musrnt

प. बंगाल हिंसा को RSS ने बताया पूर्व नियोजित, कहा- शांति बहाली को कदम उठाए केंद्र

  • Updated on 5/8/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की जीत के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं पर हो रहे हमलों और हत्या की घटनाओं पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आर.एस.एस.) ने गंभीर रुख अपनाया है। आर.एस.एस. ने केंद्र सरकार से बंगाल में शांति कायम करने के लिए हरसंभव कदम उठाने की अपील की है।

संघ ने कहा है कि चुनाव परिणाम के तुरंत बाद अनियंत्रित तरीके से हुई राज्यव्यापी हिंसा न केवल निंदनीय है, बल्कि पूर्व नियोजित भी है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले ने शुक्रवार को कहा, ‘‘हम केंद्र सरकार से भी आग्रह करते हैं कि वह बंगाल में शांति कायम करने हेतु आवश्यक हरसंभव कदम उठाए एवं यह सुनिश्चित करे कि राज्य सरकार भी इसी दिशा में कार्रवाई करे।’

उन्होंने कहा कि बंगाल में समाज विरोधी शक्तियों ने महिलाओं के साथ बर्बर व्यवहार किया, निर्दोष लोगों की हत्याएं कीं, घरों को जलाया, व्यावसायिक प्रतिष्ठानों- दुकानों को लूटा एवं हिंसा के फलस्वरूप अनुसूचित जाति-जनजाति समाज के बंधुओं सहित हजारों लोग अपने घरों से बेघर होकर प्राण-मान रक्षा के लिए सुरक्षित स्थानों पर शरण के लिए मजबूर हुए हैं।

कूच- बिहार से लेकर सुंदरबन तक सर्वत्र जन सामान्य में भय का वातावरण बना हुआ है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इस वीभत्स हिंसा की कठोर शब्दों में निंदा करता है। हमारा यह मत है कि चुनाव-परिणामों के पश्चात अनियंत्रित चल रही हिंसा भारत की सह-अस्तित्व और सबके मतों का सम्मान करने की परंपरा के साथ-साथ भारतीय संविधान में अंकित एक जन और लोकतंत्र की मूल भावना के भी विपरीत है।

उन्होंने कहा कि इस पाश्विक हिंसा का सर्वाधिक दुखद पक्ष यह है कि शासन और प्रशासन की भूमिका केवल मूकदर्शक की ही दिखाई दे रही है। दंगाइयों को न ही कोई डर दिखाई दे रहा है और न ही शासन- प्रशासन की ओर से नियंत्रण की कोई प्रभावी पहल दिखाई दे रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.