Thursday, Jun 04, 2020

Live Updates: Unlock- Day 3

Last Updated: Wed Jun 03 2020 11:51 PM

corona virus

Total Cases

216,524

Recovered

105,079

Deaths

6,032

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA74,860
  • TAMIL NADU25,872
  • NEW DELHI22,132
  • GUJARAT18,117
  • RAJASTHAN9,652
  • UTTAR PRADESH8,729
  • MADHYA PRADESH8,588
  • WEST BENGAL6,508
  • BIHAR4,096
  • KARNATAKA3,796
  • ANDHRA PRADESH3,791
  • TELANGANA2,891
  • JAMMU & KASHMIR2,718
  • HARYANA2,652
  • PUNJAB2,342
  • ODISHA2,245
  • ASSAM1,562
  • KERALA1,413
  • UTTARAKHAND1,043
  • JHARKHAND722
  • CHHATTISGARH564
  • TRIPURA471
  • HIMACHAL PRADESH345
  • CHANDIGARH301
  • MANIPUR89
  • PUDUCHERRY79
  • GOA79
  • NAGALAND58
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA30
  • ARUNACHAL PRADESH28
  • MIZORAM13
  • DADRA AND NAGAR HAVELI4
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
rss chief mohan bhagwat, said  not a single hindu will have to leave the country

NRC पर RSS प्रमुख ने कहा- एक भी हिंदू को देश छोड़कर नहीं जाना पड़ेगा

  • Updated on 9/23/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने रविवार को असम में एनआरसी (NRC) से लोगों के बाहर होने को लेकर कहा कि एक भी हिंदु को देश छोड़कर नहीं जाना पड़ेगा। माना जा रहा है कि भागवत ने यह टिप्पणी संघ (RSS) और भाजपा (BJP) समेत उससे जुड़े संगठनों की बंद दरवाजे के पीछे हुई समन्वय बैठक के दौरान की।          

ह्यूस्टन में बोले PM मोदी, धैर्य हमारी पहचान, लेकिन अब हम अधीर हैं

समन्वय बैठक के बाद संघ के एक पदाधिकारी ने कहा, मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) ने स्पष्ट कहा कि एक भी हिंदु को देश नहीं छोड़ना होगा। उन्होंने कहा कि दूसरे राष्ट्रों में प्रताड़ना और कष्ट सहने के बाद भारत आए हिंदु यहीं रहेंगे। असम में बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) की 31 अगस्त को जारी हुई अंतिम सूची में 19 लाख से ज्यादा आवेदकों के नाम नहीं हैं।    

अमेरिका: PM मोदी का PAK पर हमला, कहा- जिनसे अपना देश नहीं संभलता उन्हें भी 370 से दिक्कत

संघ के सूत्रों के मुताबिक बैठक में मौजूद कुछ नेताओं ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी की कवायद शुरू करने से पहले राज्य में नागरिकता (संशोधन) विधेयक को लागू करने की जरूरत को भी रेखांकित किया। बैठक में शामिल एक वरिष्ठ नेता ने कहा, बंगाल में पहले नागरिकता संशोधन विधेयक लागू होगा और इसके बाद एनआरसी लाई जाएगी। राज्य के ङ्क्षहदुओं को इस बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं है।    

भारत-अमेरिका शांतिपूर्ण व स्थिर दुनिया के निर्माण में योगदान दे सकते हैं: PM मोदी      

राजस्थान में इस महीने के शुरू में संघ की तीन दिवसीय वार्षिक समन्वय बैठक के दौरान यह चिंता व्यक्त की गई थी कि असम में एनआरसी की अंतिम सूची में कई वास्तविक लोग छूट गए थे जिनमें से अधिकतर हिंदु थे। भागवत का यह बयान इसी चिंता की पृष्ठभूमि में आया है। भागवत 19 सितंबर को कोलकाता पहुंचे थे। यह समन्वय बैठक दो दिन चलेगी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल भी इस बैठक में शामिल हुआ।       

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.