Friday, Dec 02, 2022
-->
rss clarified for not putting picture of tricolor on social media accounts

तिरंगा विवाद पर RSS का पलटवार- सवाल पूछने वाले देश के विभाजन के जिम्मेदार

  • Updated on 8/4/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने अपने सोशल मीडिया खातों पर तिरंगे की तस्वीर नहीं लगाने के लिए हो रही आलोचना का बुधवार को जवाब दिया।  संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख सुनील आंबेडकर ने कहा,‘‘ऐसी चीजों का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए। आरएसएस पहले ही ‘हर घर तिरंगा’ और ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ कार्यक्रमों को समर्थन दे चुका है।

कुलदीप बिश्नोई ने विधायक पद से दिया इस्तीफा, भाजपा में शामिल होने की तैयारी 

 

संघ ने जुलाई में सरकारी व निजी निकायों और संघ से जुड़े संगठनों द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में लोगों तथा स्वयंसेवकों के पूर्ण समर्थन और भागीदारी की अपील की थी।‘‘  आंबेडकर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बावजूद आरएसएस की वेबसाइट और सोशल मीडिया खातों पर तिरंगे की तस्वीर नहीं लगाने के लिए सोशल मीडिया पर हो रही आलोचना के बारे में सवाल किया गया था, जिसपर उन्होंने यह जवाब दिया। 

Supertech Twin Towers : यूपी पुलिस ने ध्वस्तीकरण के लिए अनापत्ति प्रमाणपत्र जारी किया 

आंबेडकर ने कहा कि इस तरह के मामलों और कार्यक्रमों को राजनीति से दूर रखा जाना चाहिए।  उन्होंने कहा,‘‘ऐसे मामलों में राजनीति नहीं की जानी चाहिए।‘‘ आंबेडकर ने किसी का नाम लिए बगैर आरोप लगाया कि जो पार्टी ऐसे सवाल उठा रही है वह देश के विभाजन के लिए जिम्मेदार है।

यंग इंडियन दफ्तर को ED ने किया सील, निशाने पर गांधी परिवार

सोशल मीडिया पर उठाए जा रहे सवालों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने सीधे कोई जवाब नहीं दिया और कहा,‘‘यह एक प्रक्रिया है। इसे हमें देख लेने दीजिए। हम विचार कर रहे हैं कि इसे कैसे मनाया जाए। संघ पहले ही अपना रुख साफ कर चुका है और अमृत महोत्सव के संबंध में केंद्र द्वारा शुरू किए गए सभी कार्यक्रमों का समर्थन करता है।‘‘ 

देश का निर्यात जुलाई में गिरा, व्यापार घाटा तीन गुना बढ़ा

comments

.
.
.
.
.