Tuesday, Jun 28, 2022
-->
rti act information commissions not impose fine in 95 percent of cases contrary to rules rkdsnt

RTI कानून : सूचना आयोगों ने नियमों के विपरीत 95 फीसदी केसों में नहीं लगाया जुर्माना

  • Updated on 10/12/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सूचना का अधिकार कानून के तहत विभिन्न सूचना आयोगों ने पिछले वर्ष 95 फीसदी मामलों में सरकारी अधिकारियों पर जुर्माना नहीं लगाया, जबकि वे जुर्माना लगा सकते थे। यह दावा सूचना कानून पर काम करने वाले एक समूह ने किया। आरटीआई कानून की 16वीं वर्षगांठ की पूर्व संध्या पर यह रिपोर्ट उजागर की गयी। इसमें केंद्रीय सूचना आयोग सहित 20 सूचना आयोगों पर अध्ययन किया गया है। 

सुप्रीम कोर्ट के नियुक्त पैनल के सामने हुए पेश आरोपी IPS अधिकारी

‘सतर्क नागरिक संगठन’ ने बयान जारी कर बताया कि इसमें मामलों का निपटारा और उनके द्वारा लगाए गए जुर्माने के आंकड़े समाहित हैं। समूह ने एक पूर्ववर्ती सांख्यिकीय विश्लेषण का प्रयोग किया है जिसमें इसने दावा किया कि 59 फीसदी फैसलों में आरटीआई कानून की धारा 20 के तहत सूचीबद्ध एक या अधिक उल्लंघन किए गए। इसमें इस निष्कर्ष पर पहुंचा गया कि आयोगों ने इस दौरान 95 फीसदी मामलों में जुर्माना नहीं लगाया। 

लखीमपुर खीरी कांड में मारे गए किसानों के लिए ‘अंतिम अरदास’, शहीद किसान कलश यात्रा की तैयारी

समूह ने बयान जारी कर कहा, ‘‘अगर 59 फीसदी मामलों का आकलन किया जाए तो 20 सूचना आयोगों द्वारा निस्तारित 69,254 मामलों में से 40,860 मामलों में जुर्माना लगाया जा सकता था। जुर्माना केवल 4.9 फीसदी मामलों में लगाया गया। इस तरह से सूचना आयोगों ने 95 फीसदी मामलों में जुर्माना नहीं लगाया जहां जुर्माना लगाया जा सकता था।’’ 

मंदिर प्रशासन नियंत्रण से मुक्त कराने के तहत कांची पीठ के शंकराचार्य से मिले VHP के शीर्ष नेता

आरटीआई कानून के तहत 30 दिनों के अंदर आवश्यक रूप से सूचना देनी होती है और ऐसा नहीं करने पर जन सूचना अधिकारी पर प्रति दिन 250 रुपये का जुर्माना और अधिकतम 25 हजार रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। कानून के मुताबिक जनसूचना अधिकारी के वेतन से यह जुर्माना वसूला जाता है। 

आरटीआई कानूनों के गिरते स्तर को लेकर कांग्रेस नेता बी.वी. श्रीनिवास ने भी सवाल किए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुराना विडियो शेयर करते हुए पीएम केयरफंड पर कटाक्ष किया है। 

एअर इंडिया की बिक्री : मोदी सरकार पर येचुरी का तंज - भारत के राष्ट्रीय संपदा की लूट जारी है 


 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.