Thursday, Jan 20, 2022
-->
rumors-of-tractor-march-stir-up-police-meeting-rakesh-tikait-and-getting-a-clear-picture

ट्रैक्टर मार्च की अफवाह से पुलिस में हलचल, राकेश टिकैत ने मुलाकात कर साफ की तस्वीर

  • Updated on 11/29/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। किसानों द्वारा सोमवार को दिल्ली के लिए ट्रैक्टर मार्च प्रस्तावित था। लेकिन संयुक्त किसान मोर्चा ने ट्रैक्टर मार्च को फिलहाल टालने का फैसला किया था। मगर इसके बावजूद गाजीपुर बॉर्डर पर सोमवार को दिल्ली पुलिस में हलचल बनी रही। इस दौरान बॉर्डर पर चौकसी बढा दी गई। हालांकि बाद में भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से बातचीत कर उन्हें आश्वस्त किया कि ट्रैक्टर मार्च नहीं निकाला जाएगा। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने राहत की सांस ली। 

इस दौरान मीडिया से बातचीत में राकेश टिकैत ने कृषि कानूनों को संसद में वापस लिए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह कृषि कानून बीमारी थे। अच्छा हुआ चले गए। अब एमएसपी की बीमारी को भी ठीक करना है। उन्होंने कहा कि 4 दिसंबर को आंदोलन को लेकर आगे की रणनीति पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि कृषि बिल यदि वापसी हो सका है तो यह संभव हुआ है। उन 750 शहीद किसानों की वजह से जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति दी।

 राकेश टिकैत ने दोहराया कि एमएसपी गारंटी कानून, आंदोलन में शहीद किसानों को मुआवजे के बगैर किसान वापस नहीं जाने वाले। उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों के मुद्दे पर बात करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सरकार के जवाब का इंतजार कर रहे हैं। जल्द से जल्द किसानों की मांगे मान लेने में ही भलाई है। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.