Wednesday, Jan 19, 2022
-->
saaho starcast prabhas and shraddha kapoor exclusive interview in hindi

Exclusive Interview : बॉलीवुड-हॉलीवुड का कॉम्बिनेशन है ‘साहो’

  • Updated on 8/30/2019
  • Author : National Desk

नई दिल्ली/ चंदन जायसवाल। सुपरस्टार प्रभास (Prabhas) और श्रद्धा कपूर (Shraddha Kapoor) की बहुप्रतीक्षित फिल्म ‘साहो’ (Saaho) का इंतजार खत्म हो गया। 300 से 350 करोड़ रुपए के बजट में बनी इस फिल्म (Movie) को साल की सबसे बड़ी एक्शन फिल्म भी माना जा रहा है। यह फिल्म भारी-भरकम एक्शन (Action) और रोमांस से भरपूर है। फिल्म में नील नितिन मुकेश (Neel Nitin Mukesh), अरुण विजय (Arun Vijay), जैकी श्रॉफ(Jackie Shroff), मंदिरा बेदी (Mandira Bedi), चंकी पांडे (Chanky pandey), महेश मांजरेकर (Mahesh Manjrekar) जैसे कई सितारे हैं। इसे डायरैक्ट किया है सुजीत ने। फिल्म के प्रोमोशन के लिए दिल्ली पहुंचे प्रभास और श्रद्धा ने पंजाब केसरी/ नवोदय टाइम्स/ जगबाणी/ हिंद समाचार से खास बातचीत की। पेश हैं प्रमुख अंश...।

Navodayatimes

दमदार एक्शन, थ्रिलर और रोमांस : प्रभास
इस फिल्म में ऑडियंस को दमदार एक्शन देखने को मिलेगा। इसके अहम सीक्वैंस के लिए हमें ट्रेनिंग करनी पड़ी। एक्टर्स से ज्यादा टैक्नीकल डिपार्टमैंट ने ट्रेनिंग ली। एक्शन सीन्स के लिए हॉलीवुड से एक्सपर्ट्स की भी हैल्प ली गई। यह एक पूरा प्रोसैस था जिसमें बॉलीवुड और हॉलीवुड के लोगों ने सभी चीजों को समझते हुए एक साथ मिलकर काम किया।

'साहो' के लिए श्रद्धा कपूर को ऑफर हुए 7 करोड़! हुआ बड़ा खुलासा

बड़े बजट की फिल्म का होता है ज्यादा प्रैशर
‘बाहुबली’ (Bahubali) के बाद मेरे करियर की यह दूसरी बड़े बजट की फिल्म है। बड़े बजट की फिल्मों में काम करने से प्रैशर बहुत रहता है। जितना ज्यादा फिल्म का बजट होता है उतना ही ज्यादा हमारी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। जिम्मेदारी के साथ-साथ बड़े बजट की फिल्म में काम करने में रिस्क भी ज्यादा होता है।

'साहो' को लेकर प्रभास की बढ़ी परेशानी, रातों तक सो नहीं पाए

Navodayatimes

चैलेंजिंग रहा शूट
बहुभाषी फिल्म होने के कारण हमें एक ही सीन कई भाषा में बार-बार शूट (Shoot) करने होते थे जो कि हमारे लिए काफी मुश्किल था। मैं ज्यादा टेक लेने वाला एक्टर नहीं हूं, किसी भी फिल्म के लिए मैं ज्यादा से ज्यादा 2-3 टेक लेता हूं लेकिन अलग-अलग भाषाओं में एक सीन को बार-बार शूट करना थोड़ा चैलेंजिंग रहा।

करना चाहता हूं एक्सपैरिमैंट
फिल्मों में अपने कैरेक्टर्स के साथ मैं एक्सपैरिमैंट (Experiment) जरूर करना चाहूंगा लेकिन वो सिर्फ फिल्म की स्क्रिप्ट पर निर्भर करता है। मुझे एक्सपैरिमैंट करना है सिर्फ इसलिए मैं किसी भी फिल्म का हिस्सा नहीं बनूंगा। मेरे ऊपर बहुत जिम्मेदारी होती है जो एक्सपैरिमैंट करते वक्त दांव पर लग जाएगी इसलिए यह फैसला मुझे बहुत ही सोच-समझकर लेना होगा।

चार असली हेलीकॉप्टर के साथ शूट किया गया 'साहो' का धमाकेदार एक्शन सीक्वेंस

जिंदगी में हर बार नहीं मिलती ‘बाहुबली’
‘बाहुबली’ और ‘साहो’ में बहुत बड़ा फर्क है। ये साबित हो चुका है कि ‘बाहुबली’ एक बहुत ही अलग फिल्म है। आपको जिंदगी में बार-बार ‘बाहुबली’ जैसी फिल्म नहीं मिल सकती। ‘साहो’ की बात करें तो ये फिल्म काफी एंटरटेनिंग है लेकिन ‘बाहुबली’ से इसकी कोई तुलना नहीं की जा सकती। 

'साहो' की रिलीज से पहले बाहुबली ने खोला राज ,घरवालों की मर्जी से करेंगे शादी लेकिन...

Navodayatimes

एक्शन और लव स्टोरी साथ-साथ : श्रद्धा
यह फिल्म सिर्फ एक एक्शन थ्रिलर (Action thirler) नहीं है। हां, इसकी सबसे बड़ी खासियत इसका एक्शन है लेकिन लव स्टोरी और रोमांस भी इसका बहुत ही अहम हिस्सा है। इस फिल्म में ऑडियंस को एंटरटेनमैंट के सारे एलीमैंट्स देखने को मिलेंगे। 

पैन इंडिया फिल्म का हिस्सा बनना एक खास अनुभव
फिल्म में मेरा किरदार बहुत ही अहम है जो इसमें एक टर्निंग प्वाइंट (Turning Point) का काम करता है। यह फिल्म मेरी तेलुगु डैब्यू है जिसे लेकर मैं बहुत उत्साहित (Exited) और खुश (Happy) हूं। यह बहुत ही अलग तरह का एक्सपीरियंस रहा है मेरा। एक पैन इंडिया फिल्म का हिस्सा बनना मेरे लिए बहुत ही खास अनुभव है।

'साहो' की 8 मिनट के एक्शन सीक्वेंस के लिए खर्च किए गए इतने करोड़

Navodayatimes

प्रभास में है एक खास बात
प्रभास बहुत ही मजाकिया हैं और उनके चेहरे पर हमेशा एक मुस्कुराहट होती है। उनकी सबसे खास बात यह है कि प्रोफेशनली इतने बड़े स्टार होने के बावजूद वो बहुत ही सिंपल इंसान हैं। उनमें एक और खास बात है कि सैट पर वो जितना ज्यादा मस्ती करते हैं उतने ही ज्यादा वो अपने काम को लेकर पैशनेट भी होते हैं। उनमें ये दोनों ही कॉम्बिनेशन बहुत ही कमाल का है।

श्रद्धा कपूर को 'साहो' के सेट पर मिला स्पेशल ट्रीटमेंट, प्रभास रखते हैं कुछ ऐसे खयाल

फिल्म की रिलीज के वक्त होती हूं बहुत नर्वस
अपनी किसी भी फिल्म की रिलीज के वक्त मैं बहुत ही ज्यादा नर्वस हो जाती हूं। मैं इतना नर्वस हो जाती हूं कि खुद को समझाना शुरू कर देती हूं। ये शायद इसलिए होता है क्योंकि किसी भी फिल्म को बनाने में हम अपना बहुत वक्त देते हैं और साथ ही बहुत मेहनत करते हैं। यही वजह है कि जब फिल्म रिलीज होने वाली होती है तो लगता है कि एग्जाम का रिजल्ट आने वाला है।

एक्टर बनने की चुकानी पड़ी कीमत
एक एक्टर बनने के बाद आपकी लाइफ बहुत बदल जाती है। हमें बहुत कुछ छोडऩा पड़ता है। हमें सब जानने लग जाते हैं जिसके कारण बाहर घूमना-फिरना उतना आसान नहीं रहता। कभी-कभी हमें लगता है कि काश हम फिर से पहले की तरह नॉर्मल लाइफ जी पाते। काश हम नॉर्मल तरीके से रोड पर जाकर स्ट्रीट फूड खा सकते और घूम सकते। नॉर्मल होना भी खूबसूरत होता है लेकिन शायद ये वो कीमत है जो हमें एक्टर बनने पर चुकानी पड़ती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.