Friday, Jul 01, 2022
-->
sad-leaders-meet-governor-and-demand-cancellation-of-punjab-delhi-accord-rkdsnt

शिअद नेताओं ने की राज्यपाल से मुलाकात कर पंजाब-दिल्ली समझौते को रद्द करने की मांग

  • Updated on 5/5/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के एक प्रतिनिधिमंडल ने बृहस्पतिवार को यहां पंजाब के राज्यपाल से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने पंजाब और दिल्ली की राज्य सरकारों के बीच हुए ज्ञान संबंधी समझौते को 'असंवैधानिक' करार देते हुए राज्यपाल से उसे रद्द करने के लिए राज्य सरकार को निर्देश देने का अनुरोध किया।

केजरीवाल सरकार ने निर्माण क्षेत्र के कामगारों के लिए मुफ्त बस यात्रा का किया ऐलान

प्रतिनिधिमंडल ने पटियाला में झड़पों की केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई से जांच कराने की भी मांग की। उन झड़पों में चार लोग घायल हो गए थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब में उनके समकक्ष भगवंत सिंह मान ने ज्ञान साझा किए जाने संबंधी समझौते पर 26 अप्रैल को हस्ताक्षर किए थे। पार्टी प्रमुख सुखबीर सिंह बादल नीत प्रतिनिधमंडल ने आरोप लगाया कि समझौते पर हस्ताक्षर के साथ ही पंजाब की आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार ने 'अपनी सारी शक्तियां' दिल्ली सरकार को सौंप दी हैं। 

अखिलेश बोले- सिर्फ डेटा से पेट नहीं भरता, डीजल-पेट्रोल, दाल-चावल सस्ता होना चाहिए

प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित से कानूनी राय लेने और मुख्यमंत्री भगवंत मान और उनकी मंत्रिपरिषद के खिलाफ ‘गोपनीयता की शपथ का उल्लंघन करने' के लिए उचित कार्रवाई करने का अनुरोध किया। शिअद द्वारा जारी एक बयान के अनुसार पार्टी नेताओं ने राज्यपाल से यह भी कहा कि समझौता 'संघवाद की भावना' के खिलाफ है।

OROP देने से इनकार के बाद, मोदी सरकार ‘आल रैंक, नो पेंशन’ नीति अपना रही है: कांग्रेस 

comments

.
.
.
.
.