Monday, Jun 21, 2021
-->
sadhvi pragya again indifficulties high court issued a notice for her

साध्वी प्रज्ञा की बढ़ी मुश्किलें, जबलपुर हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस

  • Updated on 8/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय जनता पार्टी (BJP) की नेता और भोपाल (Bhopal) से सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Sadhvi Pragya Singh Thakur) की दिक्कतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। साध्वी प्रज्ञा अक्सर अपने भड़काऊ भाषणों के लिए जानी जाती हैं। दरअसल साध्वी प्रज्ञा सिंह को जबलपुर हाई कोर्ट (Jabalpur HC) ने लोकसभा (Lok Sabha) के दौरान एक चुनाव याचिका पर सुनवाई करते हुए उनके खिलाफ नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने उनसे इस याचिका पर 4 हफ्तों में जवाब देने का आदेश दिया है। 

राहुल गांधी का अर्थव्यवस्था को लेकर पीएम मोदी पर कटाक्ष

एक पत्रकार ने साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ दायर की है याचिका

आपको बता दें कि लोकसभा के दौरान की गई याचिका में भोपाल लोकसभा सीट से साध्वी प्रज्ञा सिंह का निर्वाचन रद्द करने की मांग की गई है। इस मामले में भोपाल के एक पत्रकार राजेश दीक्षित (Rajesh Dikshit) ने ये चुनाव याचिका एक मतदाता के तौर पर की दायर की है। जिसपे कल सुनवाई हुई थी।

फारूक अब्दुल्ला ने पीएम मोदी से की मुलाकात, कश्मीर हालात पर की चर्चा 

पत्रकार कर रहा निर्वाचन शून्य करने की मांग

पत्रकार की इस याचिका में बताया गया है कि सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ने लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान धर्म के नाम पर वोट मांग रही थी। इसलिए उनका निर्वाचन निर्वाचन सही नहीं है और उन्होंने ने चुनाव आयोग के नियम का उल्लघन किया है। इसलिए उनका निर्वाचन शून्य किया जाना चाहिए। इस याचिका में कहा गया है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने लोकसभा के पूरे चुनाव प्रचार के दौरान लगातार सांप्रदायिक और धार्मिक भाषणों से वोट मांग रही थी। जबकि अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस (Congress) प्रत्याशी दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) पर भगवा आतंकवाद पर बयान देने के झूठे आरोप लगाए थे।

अयोध्या बाबरी मस्जिद विवाद: मध्यस्थता पैनल ने सुप्रीम कोर्ट को सौंपी स्टेटस रिपोर्ट

'लोकसभा चुनाव के दौरान धार्मिक तौर पर मांग रहीं थी वोट'

पत्रकार की याचिका में आगे लिखा है कि लोकप्रतिनिधित्व कानून की धारा 123 के मुताबिक कोई भी चुनाव प्रत्याशी धार्मिक तौर पर वोट की मांग नहीं कर सकता है। इसलिए साध्वी प्रज्ञा सिंह का निर्वाचन भी रद्द कर देना चाहिए। इस मामले पर फिलहाल जबलपुर हाईकोर्ट ने इस चुनाव याचिका पर साध्वी प्रज्ञा सिंह के खिलाफ एक नोटिस जारी किया और उनसे इसपर जवाब भी मांगा है। इस याचिका पर अगली सुनवाई 9 सितंबर को होगी.

ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में गिरावट का दौर जारी- मारुति सुजुकी, बजाज ऑटो पर भी असर

साध्वी प्रज्ञा भोपाल से पहली बार चुनी गईं हैं सांसद

आपको बता दें कि साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने लोकसभा चुनाव में भोपाल में कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह को एक बड़े अंतर से शिकष्त दी थी। उन्होंने ने दिग्विजय सिंह को 3 लाख 64 हजार 822 वोटों से हराया था। आपको बता दें कि साध्वी प्रज्ञा सिंह भोपाल से पहली बार सांसद चुनी गईं हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.