Monday, Mar 01, 2021
-->
samajwadi-party-silence-on-question-of-coordination-makes-shivpal-yadav-restless-rkdsnt

तालमेल के सवाल पर सपा की चुप्पी ने शिवपाल यादव को किया बेचैन

  • Updated on 12/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी—लोहिया (प्रसपा) मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने तालमेल को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) की तरफ से अब तक कोई ‘सकारात्मक’ प्रतिक्रिया नहीं मिलने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। शिवपाल ने बृहस्पतिवार को यहां एक बयान में कहा‘‘जहां तक समाजवादी पार्टी का प्रश्न है, अब तक मेरे इस आग्रह पर पर कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं आई है और न ही इस विषय पर मेरी समाजवादी पार्टी के नेतृत्व से कोई बात हुई है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि मेरी मंशा स्पष्ट होने के बावजूद बात आगे नहीं बढ़ पा रही है।‘‘ 

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली जाकर प्रदर्शन करने पर अड़े किसानों को लिया गया हिरासत में

गौरतलब है कि सपा से अलग होकर प्रसपा का गठन करने वाले शिवपाल कई बार सपा से चुनावी तालमेल की इच्छा जता चुके हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी यह कह चुके हैं कि अगर प्रसपा के लोग उनके साथ आते हैं तो सरकार बनने के बाद वह उनके‘नेता’को कैबिनेट मंत्री बनाएंगे। शिवपाल ने स्पष्ट किया कि प्रसपा का स्वतंत्र अस्तित्व बना रहेगा और विलय जैसे एकाकी विचार को पार्टी सिरे से खारिज करती है। उन्होंने कहा कि प्रसपा अपने पार्टी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को विश्वास दिलाती है कि उनके सम्मान के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा। 

अंबानी की कर्ज में फंसी रिलायंस कैपिटल को खरीदने के लिए कंपनियां में लगी दौड़

शिवपाल ने कहा‘‘मैं एक बार फिर गैर भाजपा दलों की एकजुटता का आह्वान करता हूं। अलग-अलग माध्यमों से और संवाद के विभिन्न मंचों पर सैकड़ों बार मैंने यह बात कही है कि समाजवादी धारा के सभी लोग एक मंच पर आएं और एक ऐसा तालमेल बने जिसमें सभी को सम्मान मिल सके और प्रदेश का विकास हो सके।‘‘ 

दिल्ली दंगे में गिरफ्तार जामिया यूनिवर्सिटी का छात्र गेस्ट हाउस से दे सकेगा परीक्षा

 

उन्होंने कहा‘‘हम लगातार संगठन को मजबूत करने पर कार्य कर रहे हैं। आगामी 24 दिसम्बर से प्रसपा पूरे उत्तर प्रदेश में गांव-गांव पद यात्रा अभियान चलाएगी। इसका उद्देश्य प्रदेश के हर गांव में पहुंचना और पार्टी के विचारों को जनता तक पहुंचाना है। पार्टी इस संकल्प को‘गांव-गांव पहुंचे प्रसपा जन के पांव’के नारे के साथ आगे बढ़ाएगी।‘‘ 

गुजरात स्थित स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के टिकटों की आय में करोड़ों रुपयों का गबन

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.