Thursday, Mar 21, 2019

समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट पर फैसला टला, अब इस डेट को होगी अगली सुनवाई

  • Updated on 3/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। 12 साल पहले देश के पानीपत में घटित समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट मामले में पंचकुला की स्पेशल एनआईए कोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई।

इस मामले में आरोपित असीमानंद सहित चारो आरोपी अदालत पहुंचे। मामले कि सुनवाई करते हुए एक बार फिर कोर्ट ने अपने निर्णय को टाल दिया और मामले की तारीख को तीन दिन और बढ़ा दिया है। एनआईए अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह ने मामले की तारीख 14 मार्च तय की है।

JNU देशद्रोह मामलाः कोर्ट ने लगाई पुलिस को फटकार, कहा- आरोप-पत्र दायर करने की जल्दी क्या थी

बता दें, एनआईए की जांच के अनुसार, 18 फरवरी 2007 को हरियाणा के पानीपत के नजदीक ट्रेन में हुई आईईडी ब्लास्ट में 68 लोगों की मौत हो गई थी। इसमें पाकिस्तान के लोग भी शामिल थे। इसके अलावा जांच में ट्रेन की बोगियों में दो सूटकेस बम भी बरामद हुए थे। 

इस मामले में बनी चार्टशीट में एनआईए ने 8 लोगों को आरोपी बनाया था, जिसमें से 1 की हत्या हो गई थी और तीन को पीओ घोषित कर दिया गया था। मामले में केवल 4 लोगों को कोर्ट के सामने पेश किया गया जिसमें असीमानंद के साथ-साथ लोकेश शर्मा, कमल चौहान और रजिंदर चौधरी शामिल है। 

एक बार फिर बरपा राजधानी में आग का कहर, ITO स्थित विकास भवन में लगी आग

याद दिला दें कि  18 फरवरी 2007 को भारत-पाकिस्तान के बीच सप्ताह में दो दिन चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में एक बड़ा बम हादसा हुआ था। ये ट्रेन दिल्ली से लाहौर जा रही थी।

 चुनाव एक माह आगे बढ़ा कर आयोग ने AAP- कांग्रेस को दिया समझौते के धागे जोड़ने का समय!

इसी बीच हरियाणा के पानीपत जिले में चांदनी बाग के थाने अंतर्गत सिवाह गांव के दीवाना स्टेशन के नजदीक ये हादसा हुआ । हादसे में 68 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं 12 लोग इस हादसे में बुरी तरह घायल हुए। इनमें बच्चों सहित रेलवे के कर्मचारी भी शामिल थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.