Friday, Feb 26, 2021
-->
samyukta kisan morcha on clean display condemns cleanliness prsgnt

उग्र प्रदर्शन पर 'सयुंक्त किसान मोर्चा' ने दी सफाई- घटनाओं में लिप्त लोग हमारे सहयोगी नहीं...

  • Updated on 1/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में किसान ट्रैक्टर परेड (Kisan Tractor Rally)  के दौरान कई जगहों से पुलिस और किसानों के बीच हिंसक झड़प की खबरें आती रही। किसानों ने कई जगह बैरिकेड्स को तोड़ दिए हैं। उन्हें पुलिस ने रोकने की कोशिश भी की है जिसके जवाब में दिल्ली पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। अपने किसान साथियों पर लाठीचार्ज होते देख एक किसान ने तलवार लेकर पुलिसवालों को दौड़ा दिया। 

इस तरह की खबरों के बीच संयुक्त किसान मोर्चा ने इन घटनाओं को लेकर अपना पल्ला झाड़ लिया है। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि किसान गणतंत्र दिवस परेड में अभूतपूर्व भागीदारी के लिए हम किसानों को धन्यवाद देते हैं।

हम उन अवांछनीय और अस्वीकार्य घटनाओं की भी निंदा करते हैं, जो आज घटित हुई हैं। ऐसे कृत्यों में लिप्त होने वाले लोग हमारे सहयोगी नहीं हैं। 

59 चीनी एप्स पर अब परमानेंट बैन लगाएगी सरकार, केंद्र कंपनियों के जवाब से असंतुष्ट

संयुक्त किसान मोर्चा ने सभी हिंसक घटनाओं की निंदा की और कहा, हमारे सभी प्रयासों के बावजूद कुछ संगठनों और व्यक्तियों द्वारा रूट का उल्लंघन करने का निंदनीय कृत्य किया गया।

असामाजिक तत्वों ने शांतिपूर्ण आंदोलन में घुसपैठ की। हमने हमेशा माना है कि शांति हमारी सबसे बड़ी ताकत है और किसी भी उल्लंघन से आंदोलन को नुकसान होगा। 

पूरी दिल्ली में प्रदर्शनकारियों का हुड़दंग! किसान संगठनों ने कहा- ये हमारे लोग नहीं

बताया जा रहा है कि एनएच 24 पर अक्षरधाम मंदिर के पास पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए बैरिकेडिंग लगाए थे, जहां किसानों के जत्थे ने ट्रैक्टरों के साथ बैरिकेडिंग को तोड़ दिया। उन्होंने जबरन घुसने की कोशिश की तो पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ दिए और जमकर पथराव और लाठीचार्ज किया गया।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.