sanjay dutt talk about tag of terrorist from the court

आतंकी का दाग हटने के बाद भी दुखी हैं संजय दत्त, कहा- पिताजी के सामने नहीं हट पाया ये काला धब्बा

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त इन दिनों अपनी अपकमिंग फिल्म  प्रस्थानम के प्रमोशन में काफी बिजी चल रहे हैं। इसी सिलसिले में हाल ही में एक मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू के दौरान जब संजय दत्त और उनकी पत्नी  मान्यता दत्त से उनकी पर्सनल लाइफ पर चर्चा की गई।

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Seeking blessings from mom, dad & bappa with the #Prassthanam team 🙏 #GanpatiBappaMorya

सित॰ 4, 2019 को 3:01पूर्वाह्न PDT बजे को Sanjay Dutt (@duttsanjay) द्वारा साझा की गई पोस्ट

ऐसे में पत्नी मान्यता दत्त ने संजय दत्त के बीते दिनों को याद करते हुए  कहा कि संजय ने काफी बुरा वक्त भी देखा है। जब उनपर तरह तरह के आरोप लगाए थे। यहां तक कि उन्हें हथियार रखने के लिए जेल भी जाना पड़ा और उन पर आतंकी का टैग भी लग गया था। जिसे हटाने के लिए संजय ने भी काफी मेहनत की। संजय दत्त पर लगे इन गंभीर आरोप के बाद पूरा परिवार काफी लंबे समय तक काफी परेशान था। 

Exclusive interview: कॉल पर संजय दत्त से बात करने में क्यों घबरा गए थे अली फजल!

मान्यता की इन बातों को सुनकर संजय दत्त काफी भावुक हो गए और उन्होंने कहा -काले बादल हट गए हैं. मैं आखिरकार सुकून में हूं लेकिन मेरे पिता ये सब सुनने के लिए जिंदा नहीं हैं।

पिता सुनील दत्त, बहन प्रिया दत्त भी थे राजनीति का हिस्सा 
आपको बता दे ये पहली बार नहीं है कि जब संजय दत्त के राजनीति में आने की खबरें सामने आई हैं। इससे पहले लोकसभा चुनाव के दौरान तो ये अफवाह भी फैली थी कि संजय दत्त चुनाव लड़ने वाले हैं। हालांकि संजय दत्त ने खुद सामने आकर कहा था कि वो किसी पार्टी में शामिल नहीं होने जा रहे। उन्होंने ने ये भी कहा था कि  वो चुनाव के दौरान अपनी बहन प्रिया दत्त को सपोर्ट करेंगे।

संजय दत्त ने राजनीति में दोबारा आने को लेकर दी सफाई

संजय दत्त के पिता सुनील दत्त और बहन प्रिया दत्त कांग्रेस के सांसद रह चुके हैं। सुनील दत्त लंबे समय तक केंद्र में मंत्री भी रह चुके हैं। वहीं खुद संजय दत्त भी साल 2009 में समाजवादी पार्टी के टिकट पर लखनऊ से लोकसभा उम्मीदवार थे, लेकिन अदालत की ओर से आर्म्स एक्ट के तहत उनकी सजा को निलंबित करने से इनकार करने की वजह से वे खुद ही पीछे हट गए थे। 

comments

.
.
.
.
.