Friday, Jul 30, 2021
-->
sanjay raut attacked over mufti-farooq statement on article 370 rashtra droh pragnt

मुफ्ती-फारूक के बयान पर भड़के संजय राउत, कहा- तिरंगा फहराने से रोकना राष्ट्रद्रोह

  • Updated on 10/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जम्मू-कश्मीर (Jammu And Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के खिलाफ महबूबा मुफ्ती और फारूक अब्दुल्ला के बयान को लेकर विवाद जारी है। अब इस मामले में शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने दोनों नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इसके साथ ही राउत ने केंद्र से अपील की कि अगर किसी भी शख्स को कश्मीर में तिरंगा फहराने पर रोका जाता है तो इसे 'राष्ट्रद्रोह' के तौर पर देखा जाए। दरअसल, महबूबा मुफ्ती ने तिरंगे झंडे को लेकर घिर गईं हैं। वहीं फारूक अब्दुल्ला ने चीन के साथ मिलकर अनुच्छेद 370 वापस लाने की बात कही थी। नेताओं के विवादित बयान को लेकर जमकर विवाद हो रहा है।

फारुक अब्दुला ने कहा- जम्मू-कश्मीर के हक में आवाज करते रहेंगे बुलंद

मुफ्ती-फारूक के खिलाफ कार्रवाई की मांग
शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता ने कहा, 'अगर महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला और अन्य पार्टी चीन की मदद से जम्मू-कश्मीर में धारा 370  फिर से लागू करना चाहते हैं तो मुझे लगता है कि केंद्र सरकार को बहुत ही कठोर कदम उठाने चाहिए। अगर कोई भी व्यक्ति जो कश्मीर में तिरंगा फहराना चाहता है, उसे रोका जाता है, तो मैं इसे 'राष्ट्रद्रोह' के तौर पर देखूंगा।'

महबूबा के बयान के विरोध में BJP ने फहराया लाल चौक पर तिरंगा, 4 कार्यकर्ता गिरफ्तार

देश में लागू हो यूनिफॉर्म सिविल कोड
केंद्र सरकार को यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के सवाल पर संजय राउत ने कहा, 'हमने पहले भी कहा है कि देश में यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू होना चाहिए। अगर सरकार ऐसा कुछ करती है, तो हम इस बारे में निर्णय लेंगे।'

महबूबा के बयान के टाइमिंग पर कांग्रेस ने उठाया सवाल, जताई आपत्ति

मुफ्ती का देश विरोधी बयान
दरअसल, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, 'जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे। मगर जब तक हमारा अपना झंडा हमें नहीं मिल जाता तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे। उन्होंने कहा, वो झंडा हमारे आईन का हिस्सा है, हमारा झंडा तो ये है। उस झंडे से हमारा रिश्ता इस झंडे की देन है।' जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को पिछले वर्ष अगस्त में समाप्त किए जाने के बाद से महबूबा हिरासत में थीं। रिहा होने के बाद पहली बार मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि वह तभी तिरंगा उठाएंगी, जब पूर्व राज्य का झंडा और संविधान बहाल किया जाएगा।

फारूक अब्दुल्ला का PM मोदी पर हमला, कहा- चीन की मदद से फिर लाएंगे आर्टिकल 370

फारूक अब्दुल्ला ने कहा था ये
एक न्यूज एजेंसी से बातजीत के दौरान जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नैशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा था कि केंद्र द्वारा हटाए गए अनुच्छेद 370 को समर्थन कभी भी चीन ने नहीं किया है। चीन शुरू से ही इस फैसले का विरोध करता रहा है और यही कारण है कि वो एलएसी पर लगातार अपना आक्रामक रुख दिखा रहा है। उन्होंने कहा कि हम चीन की मदद से एक बार फिर से जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35ए को वापस लेकर आएंगे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.