Monday, Aug 15, 2022
-->
sanjay raut met rahul gandhi said opposition front not possible without congress rkdsnt

राहुल गांधी से मिले संजय राउत, बोले- कांग्रेस के बिना विपक्ष का मोर्चा संभव नहीं

  • Updated on 12/7/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने मंगलवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की और कहा कि देश में विपक्ष का एक ही मोर्चा होना चाहिए तथा कांग्रेस के बिना कोई भी विपक्षी गठबंधन नहीं बन सकता।

यूपी विधानसभा चुनाव : सपा-रालोद ने की गठबंधन की औपचारिक घोषणा

राहुल गांधी के 12-तुगलक लेन स्थित आवास पर उनसे मुलाकात के बाद राज्यसभा सदस्य राउत ने यह भी कहा कि विपक्षी दलों को साथ लाने के लिए राहुल गांधी को आगे आकर काम करना चाहिए। संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) में शिवसेना के शामिल होने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘‘मैं उद्धव ठाकरे जी से बात करूंगा और फिर इस बारे में बताऊंगा।’’ 

मोदी सरकार के प्रस्ताव को लेकर फिर बैठक करेगा संयुक्त किसान मोर्चा

उन्होंने कहा, ‘‘हमने पहले ही कहा है कि अगर विपक्ष का कोई मोर्चा बनता है तो वह कांग्रेस के बिना संभव नहीं है। इस बारे में चर्चा हुई है।’’ राउत ने यह भी कहा कि सभी विपक्षी दलों को एकजुट होना चाहिए और राहुल गांधी को आगे काम करना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा, ‘‘कांग्रेस के सिवाय एकजुटता नहीं हो सकती। विपक्ष का एक ही मोर्चा होना चाहिए। नेता के बारे में बैठकर चर्चा कर लीजिए। लेकिन तीन-चार मोर्चे नहीं हो सकते।’’ 

बाबा साहेब आंबेडकर के सपने को पूरा करने की केजरीवाल ने खाई कसम

राउत ने यह भी बताया कि राहुल गांधी आने वाले समय में मुंबई का दौरा करेंगे और अगर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कामकाज कर रहे होंगे तो दोनों की मुलाकात भी हो सकती है। ठाकरे इन दिनों रीढ़ की हड्डी से जुड़ी सर्जरी कराने के बाद स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। 

भाजपा को टक्कर देने के लिए विपक्षी गठबंधन के लिए काम करेंगे: राकांपा
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने मंगलवार को कहा कि वह 2024 में भाजपा से मुकाबला करने के लिए कांग्रेस समेत विभिन्न दलों का व्यापक गठबंधन बनाने का हरसंभव प्रयास करेगी, लेकिन इसने कांग्रेस के बारे में तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी के बयानों से खुद को दूर रखा।  राकांपा कार्यसमिति की चर्चा के बारे में बात करते हुए पार्टी प्रवक्ता नवाब मलिक ने पत्रकारों से कहा कि देश के लोग केंद्र में भाजपा सरकार से ऊब गए हैं और 2024 में बदलाव चाहते हैं। 

ताजीज से साझेदारी के तहत रिलायंस इंडस्ट्रीज अबू धाबी में 2 अरब डॉलर का करेगी निवेश

 

मलिक ने कहा, 'हम भाजपा का विकल्प बनाने के लिए कांग्रेस सहित सभी गैर-भाजपा दलों को एकजुट करने का हरसंभव प्रयास करेंगे। लोग 2024 में बदलाव चाहते हैं। यदि वैकल्पिक गठबंधन बनता है, तो 2024 में बदलाव होगा।'     उन्होंने हालांकि इस बारे में कुछ नहीं कहा कि इस तरह के गठबंधन का नेतृतव कौन करेगा। मलिक ने कहा कि राकांपा प्रमुख शरद पवार भाजपा का व्यापक विकल्प बनाने के लिए सभी विपक्षी दलों को एकजुट करने की जरूरत पर जोर दे रहे हैं। 

कोर्ट ने दिया रिहायशी इलाके में खुली शराब की दुकान के स्थल का निरीक्षण करने का निर्देश

भाजपा के विकल्प पर राकांपा की टिप्पणी उस दिन आई जब शिवसेना नेता संजय राउत ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की। इससे कुछ दिन पहले तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) को अस्तित्वहीन करार दिया था। उन्होंने गांधी पर भी निशाना साधा था और विपक्षी गठबंधन का नेतृत्व किए जाने को लेकर कांग्रेस पर सवाल उठाया था।

पांच राज्यों में आगामी विधानसभा चुनावों पर, मलिक ने कहा कि राकांपा गोवा और उत्तराखंड में चुनाव पूर्व गठबंधन के लिए कांग्रेस के साथ बातचीत कर रही है, जबकि उत्तर प्रदेश में संभावित गठजोड़ के लिए समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव के साथ बातचीत के रास्ते खुले हैं। मलिक ने कहा कि राकांपा का आंतरिक चुनाव अगले साल होगा जिसके बाद दिल्ली में नौ और 10 जून को राष्ट्रीय अधिवेशन होगा।     
 

रिलायंस कैपिटल के खिलाफ दिवाला प्रक्रिया शुरू करेगा NCLD, नागेश्वर राव कंपनी के प्रशासक

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.