Monday, Mar 01, 2021
-->
sanjay raut wife varsha raut returned loan money bjp attacked pm bank scam case pragnt

PMC Bank Case: 'संजय राउत की पत्नी ने लौटाए लोन के पैसे', BJP ने कहा- हिसाब भी देना पड़ेगा

  • Updated on 1/15/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पीएमसी बैंक घोटाला मामले (PMC Bank Scam Case) में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने पूछताछ के लिए शिवसेना (Shiv Sena) नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) की पत्नी वर्षा राउत (Varsha Raut) का समन भेजा था। ईडी कथित बैंक ऋण घोटाला मामले के एक आरोपी प्रवीण राउत की पत्नी द्वारा 55 लाख रुपए अंतरित करने के मामले में वर्षा राउत की भूमिका की जांच कर रही है। इस बीच दावा किया जा रहा है कि संजय राउत की पत्नी वर्षा ने जो 55 लाख लिए थे वो अब उन्होंने वापस लौटा दिए हैं।

शरद पवार की शरण में अभिनेता सोनू सूद, बीएमसी ने अपनाया कड़ा रुख

बीजेपी ने साधा निशाना
वर्षा राउत के लोन के पैसे लौटाने वाले दावे पर बीजेपी (BJP) ने हमला बोला है। बीजेपी नेता किरीट सोमैया (Kirit Somaiya) ने ट्वीट कर लिखा, 'संजय राउत कहते हैं कि उनकी पत्नी ने सारा पैसा लौटा दिया है।हिसाब तो देना ही होगा।' सौमेया ने आगे लिखा, 'आखिर में संजय राउत साहब को पैसा वापस करना ही पड़ा, लेकिन हिसाब भी देना ही पड़ेगा।'

Kirit Somaiya

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने BMC के नोटिस के खिलाफ हाई कोर्ट में लगाई गुहार

ED ने किया तलब
प्रवर्तन निदेशालय ने 4,300 करोड़ रुपये के पीएमसी बैंक धन शोधन मामले की जांच के सिलसिले में शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को फिर से पूछताछ के लिए 11 जनवरी को तलब किया है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पहली बार चार जनवरी को केन्द्रीय एजेंसी ने धन शोधन निषेध कानून के तहत वर्षा से पूछताछ की थी और उनका बयान दर्ज किया था। 

29 जनवरी से 8 अप्रैल तक चलेगा बजट सत्र, दोनों सदनों को संबोधित करेंगे राष्ट्रपति

लगा है ये आरोप
सूत्रों ने बताया कि एजेंसी उनसे और पूछताछ करना चाहती है, इसलिए उन्हें फिर से 11 जनवरी को तलब किया गया है। एजेंसी कथित बैंक ऋण घोटाला मामले के एक आरोपी प्रवीण राउत की पत्नी द्वारा 55 लाख रुपये अंतरित करने के मामले में उनकी भूमिका की जांच कर रही है। प्रवीण राउत गुरुआशीष कंस्ट्रक्शंस कंपनी के निदेशक हैं और बताया जा रहा है कि यह कंपनी बैंक घोटाला मामले में आरोपी एचडीआईएल की सहायक कंपनी है। 

राकेश टिकैत बोले- गतिरोध सुलझाने के लिए मोदी सरकार से बातचीत जारी रहना चाहते हैं किसान संघ

हो चुकी है इनकी गिरफ्तारी
पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा प्रवीण राउत को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। ईडी ने हाल ही में प्रवीण राउत की 72 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है और उनसे और उनकी पत्नी माधुरी राउत से पूछताछ की है। एजेंसी का आरोप है कि ऋण के नाम पर प्रवीण राउत ने बैंक के 95 करोड़ रुपये का गबन किया है और उस राशि में से 1.6 करोड़ रुपये उसने अपनी पत्नी माधुरी को दिए। माधुरी ने उसमें से दो बार में 55 लाख रुपये संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को ब्याज रहित ऋण के रूप में दिये। 

पूर्वी और उत्तरी दिल्ली नगर निगम ‘कंगाल’ हो गए हैं, कर्मचारियों को वेतन भी नहीं दे सकते : सिसोदिया

ED ने कहा ये
ईडी ने कहा था, 'इस धन का उपयोग मुंबई के दादर ईस्ट में फ्लैट खरीदने के लिए किया गया।' जांच में पता चला कि वर्षा राउत और प्रवीण राउत 'अवनी कंस्ट्रक्शंस में साझेदार हैं और वर्षा को महज 5,625 रुपये का निवेश करके कंपनी से 12 लाख रुपये प्राप्त हुए।' उसने कहा, '12 लाख रुपये का ऋण अब भी बकाया है।' संजय राउत (59) राज्यसभा के सदस्य और महाराष्ट्र में सत्तारूढ़ शिवसेना के प्रवक्ता हैं। 

UK से आने वाले यात्रियों के लिए 31 जनवरी तक बढ़ाई गईक्वारनटीन समय, नये स्ट्रेन का बढ़ रहा मामला

ईडी की जांच में खुलासा
प्रवर्तन निदेशालय ने खुलासा किया है कि उसने महाराष्ट्र के एक नागरिक की 72 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है जिनकी पत्नी का शिवसेना नेता संजय राउत की पत्नी के साथ कथित लेन-देन, एजेंसी की 4,300 करोड़ रुपये से अधिक के पीएमसी बैंक धनशोधन मामले की जांच के घेरे में है।

मायावती का बड़ा ऐलान, UP- उत्तराखण्ड में लड़ेगे अकेले चुनाव, सभी सीटों पर उतारेंगे उम्मीदवार

इस तरह शुरू हुआ पैसों के लेन देन का खेल
केंद्रीय जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि प्रवीण राउत नामक व्यक्ति ने कर्ज की आड़ में पीएमसी बैंक से 95 करोड़ रुपये का गबन किया जिनमें से उन्होंने 1.6 करोड़ रुपये अपनी पत्नी माधुरी राउत को दिये और माधुरी ने 55 लाख रुपए दो हिस्सों में संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को 'ब्याज मुक्त ऋण' के रूप में हस्तांतरित किए। ईडी ने हाल ही में वर्षा राउत को इस लेनदेन के संबंध में और अन्य कुछ सौदों के सिलसिले में पूछताछ के लिए बुलाया था जिसके बाद महाराष्ट्र और केंद्र के बीच आरोप-प्रत्यारोप शुरू हो गए जहां महा विकास आघाड़ी (एमवीए) नीत राज्य सरकार ने केंद्र पर उन्हें परेशान करने के लिए संघीय जांच एजेंसियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.