Thursday, Apr 02, 2020
sanjay-singh-charge-of-murder-on-tahir-hussain-action-should-be-taken-murder-case

ताहिर हुसैन पर हत्या के आरोप पर संजय सिंह ने कहा- दोषी हैं तो कार्रवाई हो

  • Updated on 2/27/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) को लेकर दिल्ली में भड़की हिंसा और इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मचारी अंकित शर्मा (Ankit sharma) की हत्या का आरोप नेहरू विहार (Nehru Vihar) से आम आदमी पार्टी (AAP) के निगम पार्षद ताहिर हुसैन (Tahir Hussain) और उनके समर्थकों पर लग रहा है।

दिल्ली का हिंसक प्रदर्शन दुखद, हालात पर पाया जाए काबू: UN सेक्रटरी

दोषी है तो कार्यवाई होगी
इस पर संजय सिंह (Sanjay Singh) ने कहा है कि पहले दिन से AAP कह रही है कि कोई भी व्यक्ति हो, किसी भी पार्टी या धर्म से हो, अगर दोषी है तो उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

संजय सिंह ने कहा, ताहिर हुसैन पहले ही अपना बयान दे चुके हैं जिसमें उन्होंने कहा कि हिंसा के दौरान उनके घर में घुसने के बारे में उन्होंने पुलिस और मीडिया को सारी जानकारी दी। उसने पुलिस से सुरक्षा मांगी थी। पुलिस 8 घंटे देरी से आई और उसे और उसके परिवार को उसके घर से बचाया।   

दिल्ली हिंसा: नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में आज भी नहीं होगी CBSE परीक्षाएं

ताहिर हुसैन पर हत्या का आरोप
बता दें कि आम आदमी पार्टा नेता ताहिर हुसैन पर आरोप लगाया है कि वे इंटेलिजेंस ब्यूरो अधिकारी अंकित शर्मा की हत्या में शामिल थे। अंकित शर्मा का शव बुधवार को चांद बांग में एक नाले से मिला था। अंकित के परिवार के सदस्यों ने सीधे-सीधे ताहिर हुसैन और उनके समर्थकों पर अगवा करके अंकित को जान से मारने का आरोप लगाया है।

इस मामले में पुलिस ने ताहिर हुसैन को पुछताछ के लिए बुलाया। दरअरल, चूंकि जिस जगह अंकित शर्मा का घर था, वहां दंगे चल रहे थे, इसलिए परिजनों को लगा कि वह ऑफिस में रुक गया होगा, लेकिन जब फोन बंद मिला, अता-पता नहीं चला तो परिजनों को बेचैनी हुई और ये बेचैनी बुधवार दोपहर तक रही।

भड़काऊ बयान देने वाले BJP के 3 नेताओं के खिलाफ हाईकोर्ट में सुनवाई आज

नाले में मिली लाश
इसी बीच खबर आई कि जिस अंकित को परिजन खोज रहे हैं, उसकी चाकू से गुदी हुई लाश खजूरी खास के नाले में पड़ी थी। दंगाइयों ने निर्ममता से हत्या कर उसके शव को नाले में फेंक दिया था। प्रारंभिक जांच के तहत अंकित शर्मा की बीती रात दंगाइयों ने पीट-पीटकर निर्मम हत्या कर दी थी। शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया। 

आईबी में था और सूचना देने के अंदेशे से चढ़ गया भेंट?
अंकित शर्मा आईबी में था और इलाके के लोग उसे जानते थे। चूंकि उस इलाके में बीते तीन दिनों से उपद्रव चल रहा था, शायद इसी के चलते उपद्रवियों को लगा कि अंकित उनकी सभी जानकारियां पुलिस तक पहुंचा रहा है, जिसके चलते उसकी हत्या की गई। इस संबंध में अंकित शर्मा के भाई अंकुर शर्मा ने बताया कि परिवार में मां, पिता रविन्द्र शर्मा और वह दो भाई थे। जिसमें से उसके भाई की दंगाइयों ने हत्या कर दी है। 

#DelhiRiots2020: अब तक 18 लोगों पर FIR, 106 लोग गिरफ्तार

कौन हैं ताहिर हुसैन? 
दिल्ली दंगों में आम आदमी पार्टी के पार्षद मोहम्मद ताहिर हुसैन का रोल भी संदिग्ध हो गया है। हुसैन और उनके समर्थकों पर इंटेलिजेंस ब्यूरो यानि आईबी के ऑफिसर अंकित शर्मा की हत्या के आरोप लगे हैं। पुलिस अब उन्हें पूछताछ के लिए तलब कर रही है। ताहिर हुसैन ने भी वीडियो जारी कर खुद को पाक-साफ करार करने की कोशिश की है। ताहिर दिल्ली की सियासत में चर्चित चेहरा नहीं हैं। लेकिन उत्तर पूर्वी दिल्ली में उनका अच्छा वोटबैंक है। शाहदरा, नेहरू नगर, चांदबाग के इलाके में ताहिर की खूब चलती है। मुसलमानों के बीच वह अच्छी पैठ रखते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.