sant ravidas temple case resentment erupted by followers police firing

संत रविदास मंदिर मामला: अनुयायियों का फूटा आक्रोश, पुलिस ने की फायरिंग

  • Updated on 8/22/2019

नई दिल्ली/कृष्ण कुणाल सिंह। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तुगलकाबाद के जहांपनाह वन क्षेत्र में स्थित संत गुरु रविदास के तोड़े जाने का विरोध कर रहे अनुयायियों का आक्रोश बुधवार की शाम फूट पड़ा। हजारों की संख्या में लाठी-डंडों से लैस अनुयायी मंदिर की जगह पर पहुंचकर विरोध जताना चाह रहे थे, लेकिन करीब 500 मीटर पहले तारा अपार्टमेंट की रेड लाइट पर बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस ने सभी को रोक लिया।

राज ठाकरे आज ED के समक्ष होंगे पेश, MNS ने वापस लिया ठाणे बंद का आह्वान

आगे नहीं जाने दिया गया तो भीड़ उग्र हो गई और सड़क से आने-जाने वाले वाहनों में तोडफ़ोड़ करने लगी। कई कार और बसों के शीशे तोड़े गए और एक बाइक में आग भी लगा दी। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पहले तो पुलिस ने लाठियां भांजी, इस पर भी भीड़ शांत नहीं हुई तो हवा में फायरिंग भी की गई।

कांग्रेस का BJP पर बड़ा हमला, कहा- मोदी सरकार में लोकतंत्र खत्म हो गया

वन क्षेत्र में रविदास मंदिर को अवैध रुप से निर्मित ठहराते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने उसे तोड़ने का आदेश दिया था। इसके बाद डीडीए ने पुलिस की मदद से मंदिर को तोड़ दिया था। इसके बाद से ही अनुयायियों में गुस्सा फैला हुआ है। राजधानी में लगातार धरना-प्रदर्शन चल रहा है। बुधवार को भी रामलीला मैदान में विरोध प्रदर्शन और रैली की गई।

CBI ने चिदंबरम को किया गिरफ्तार, आज कोर्ट में होगी पेशी, जानिए पूरा मामला

इसके साथ मंदिर वाली जगह जाकर भी प्रदर्शन करने का प्रयास किया गया। भीड़ ज्यादा थी, ऐसे में अर्धसैनिक बल को भी बुलाया गया। रोके जाने के कारण स्थिति बिगड़ गई। उग्र लोगों ने ओखला इस्टेट मार्ग पर खड़े वाहनों में तोडफ़ोड़ की। डीटीसी की एक एसी बस और पुलिस की जिप्सी सहित कई वाहनों में आग लगा दी। पुलिस को लाठी चार्ज और हवाई फायरिंग करनी पड़ी। साथ ही हिंसा पर उतरे लोगों को को हिरासत में ले लिया गया।

पाकिस्तान की कश्मीर मुद्दे को UNHRC में उठाने की योजना: विदेश कार्यालय

इसके बाद भीड़ तितरबितर हो गई। मौके पर साउथ ईस्ट और साउथ जिले के डीसीपी समेत आलाधिकारी पहुंचे हुए थे। देर रात तक इलाके में तनाव बना रहा। बीच-बीच में कहीं-कहीं लोग नारेबाजी करते रहे। भीड़ की पत्थरबाजी में दो पुलिसकर्मी समेत अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस ने पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया है। हिंसक प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद के साथ बड़ी संख्या में लोगों को हिरासत में लिया। 
 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.