Tuesday, Jan 25, 2022
-->
sarbat khalsa''''s action: captain amarinder singh''''s salary agreement

सरबत खालसा की कार्रवाईः कैप्टन अमरेंद्र सिंह तनख्वाहिया करार

  • Updated on 12/6/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सरबत खालसा द्वारा नियुक्त श्री अकाल तख्त साहिब के कार्यकारी जत्थेदार ध्यान सिंह मंड ने सरबत खालसा के मुख्य प्रबंधक भाई जरनैल सिंह सखीरा के साथ मिलकर पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के खिलाफ हुक्मनामा जारी करते हुए उन्हें तनख्वाहिया करार दे दिया।

मंड ने कहा कि उनके सहित पांच सिंह साहिबानों ने श्री अकाल तख्त साहिब की मर्यादा और पंथक रीतों के अनुसार यह फैसला किया है। उन्होंने बताया कि श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी का इंसाफ लेने के लिए लगाए गए बरगाड़ी मोर्चे को पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह ने विधायक हरमिन्दर सिंह गिल, कुलबीर सिंह जीरा, कुशलदीप सिंह किक्की ढिल्लों और 2 मंत्रियों तृप्त राजिन्द्र सिंह बाजवा और सुखजिन्द्र सिंह रंधावा को भेजकर धोखे से उठवा दिया था।

इस पर कैप्टन को बार-बार श्री अकाल तख्त साहिब पर बुलाया गया तो उन्होंने एक चिट्ठी भेजकर तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश करके पंंथ को गुमराह किया। आज आखिरी मौका देने पर जब वह उपस्थित नहीं हुए तो पांच सिंह साहिबानों द्वारा पंथक रीतों के अनुसार कैप्टन अमरेंद्र सिंह को तनख्वाहिया करार दे दिया।

उन्होंने संगत से अपील की कि कोई भी कैप्टन अमरेंद्र सिंह को न तो गुरुद्वारा साहिब की स्टेज पर, न ही कहीं और से बोलने दें और न ही उसके साथ किसी तरह की कोई सांझ रखें। उन्होंने मौजूदा सरकार को हिदायत जारी करते हुए कहा कि वह अपने कार्यकाल समय ही चुनाव आचार संहिता लगने से पहले-पहले श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी का इंसाफ दिलाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.