सरना ने कहा, गुरू ग्रंथ साहिब का अपमान करने के लिए अवतार हित पर हो कार्रवाई

  • Updated on 1/22/2019

नई दिल्ली/सुनील पांडेय। शिरोमणी अकाली दल (दिल्ली) के महासचिव हरविंदर सिंह सरना ने आज यहां आरोप लगाया कि बादल दल द्वारा जानबूझकर साजिश के तहत श्री गुरु ग्रन्थ साहिब और बाकी गुरु साहिबानों की बेअदबी की जा रही है। इसका ताजा प्रमाण पटना साहिब में एक कार्यक्रम में देखने को मिला, जहां वहां के अध्यक्ष अवतार सिंह हित ने बिहार के मुख्यमंत्री की चापलूसी में गुरुग्रंथ साहिब का निरादर कर डाला।

हित ने गुरु साहिबान की शान में अरदास के दौरान बोले जाने वाले शब्द नीतीश कुमार के लिए बोल कर गुरु साहिब का  घोर अनादर किया है। यह निदंनीय है, और सिख संगत इसको लेकर खफा हैं। इसको लेकर सरना ने श्री अकाल तख्त साहिब से गुहार लगाई है। साथ ही मांग की है कि अवतार सिंह हित को गुरु ग्रंथ साहिब का घोर निरादर करने के दोष में धार्मिक परम्पराओं के अनुसार तुरंत सिक्ख पंथ से खारिज कर देना चाहिए।  

‘कारवां’, जयराम के खिलाफ डोभाल के बेटे की मानहानि याचिका पर कोर्ट राजी

    सरना ने कहा कि इससे पहले एक रैली के दौरान बादल दल के वरिष्ठ नेता बलविंदर सिंह भुन्दर ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को बादशाह दरवेश कह कर सम्बोधित किया था। यहीं नहीं बादल दल के एक अन्य नेता सिकंदर सिंह मलूका ने पंथ प्रवानित अरदास की नकल करके आरएसएस द्वारा बनाई नकली अरदास में शमिल होकर पंथक अरदास की निरादरी की थी।  

   सरना ने कहा कि आरोप लगाया कि बादल दल द्वारा नियुक्त किये दिल्ली कमेटी के अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. ने तो गुरु की गोलक को ऐसा लूटा की कमेटी करोड़ों के घाटे में चली गयी, नतीजन बैंकों से लोन लेने को मजबूर हो गयी। इसके अलावा बादल दल के अन्य नेताओं ने भी सिक्ख रहित मर्यादा की जमकर धज्जियां उड़ाई है।

इसमें कमेटी के पूर्व महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा के निजी ड्राइवर अंगरक्षक सिगरेट पीते, पार्टी के विदेश मामलों के प्रमुख रहे पुनीत सिंह चंडोक हुक्का पीते हुए नजर आए। इसी कड़ी में अब तख्त पटना साहिब के अध्यक्ष अवतार सिंह हित ने नीतीश कुमार को निमाणिआं का मान, नितानियां का ताण, निओटियाँ की ओट कह कर संबोधित करके गुरु ग्रन्थ साहिब की घोर बेअदबी की है। 

प्रधानमंत्री को मिले उपहारों की होगी नीलामी, गंगा सफाई में होगा प्राप्त पैसे का इस्तेमाल

   सरना ने कहा कि बादल पार्टी द्वारा सिक्ख, सिक्खी, सिक्ख इतिहास, सिक्ख परंपराओं, रवायतों और रहित मर्यादा को नष्ट करने की लगातार साजिश रची जा रही है। लिहाजा, पूरे सिख जगत को सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने पूरे सिख समुदाय से अपील की कि वे बादल दल के शिकंजे से सिक्ख धार्मिक संस्थानों  को मुक्त करवाने के लिए एकजुट होकर कदम बढ़ाएं, तभी सिक्ख संस्थाओं द्वारा सिक्ख धर्म एवं मानवता के भले के लिए कार्यक्रम बनाए जा सकेंगे। 

    उधर,  पटना साहिब गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष अवतार सिंह हित ने सरना के आरोपों को सिरे से खारिज किया है। साथ ही कहा कि उन्होंने गुुुरूग्रंथ साहिब का कोई निरादर नहीं किया है। उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरू गोविंदर सिंह का प्रकाश उत्सव को बड़े स्तर पर मनाया है इसलिए हमने उनको बधाई दिया है। ना की कोई बेअदबी किया है।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.