Sunday, May 22, 2022
-->
sarvapitra-amavasya-thank-you-to-the-fathers-as-per-the-law

सर्वपितृ अमावस्या, रहे पितरों के प्रति कृतज्ञ करें विधि अनुसार तर्पण

  • Updated on 10/5/2021

नई दिल्ली। अनामिका सिंह। 6 अक्तूबर यानि आश्विन मास की अमावस्या को पितृ पक्ष की समाप्ति है, इस दिन को सर्वपितृ अमावस्या कहा जाता है। जो भी पितृ परिवार में होते हैं या वो पितृ जिन्हें हम याद नहीं रखते उन सभी को इस दिन तर्पण किया जाता है। सही मायने में अपने पितरों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करने का सर्वपितृ अमावस्या एक सही दिन होता है।
पुराणों में कहा गया है कि सर्वपितृ अमावस्या के दिन अपने पितरों को विधि-विधान से इस दिन तर्पण करने वालों के लिए पितृ मुसीबत की घडियों में सहायता प्रदान करते हैं।
सजानी है साड़ी व दुपट्टे की किनारी, तो आना पडे़गा दिल्ली के किनारी बाजार

श्राद्ध के भोजन को सर्वप्रथम गाय, कुत्ते व कौओं को खिलाए
अमावस्या के दिन सुबह उठकर स्नाान करने व पितरों का विधिपूर्वक श्राद्ध करना चाहिए। ब्राह्मणों को घर बुलाकर भोजन करवाने व वस्त्र, मुद्रा व अन्य वस्तुएं दान करनी चाहिए। यही नहीं इस दिन पितृ किस रूप में आपके घर पधारें यह नहीं कहा जा सकता। इसीलिए अमावस्या के दिन श्राद्ध के भोजन को सर्वप्रथम गाय, कुत्ते व कौओं को खिलाया जाता है। कुछ लोग भूखे व बेसहारा लोगों को भोजन करवाने के अलावा, जरूरतमंदों की आर्थिक सहायता भी करते हैं। शास्त्रों में लिखा गया है कि इस दिन दान मांगने वाले को दरवाजे से कभी खाली हाथ नहीं लौटाना चाहिए। यदि कोई भूखा है और खाने के लिए मांगता है तो उसे पेटभर खाना खिलाना चाहिए। 
आखिर क्यों बन गए खास, राखीगढी के माउंट 4 से 7

मांस-मदिरा खाने से लगता है दोष
पितृपक्ष के प्रारंभ से ही मांस-मदिरा व अन्य तामसी भोजन को निषेध कर दिया जाता है। ऐसे में अमावस्या के दिन तर्पण करने के पश्चात ये सोचकर कि पितृ पक्ष समाप्त हो गया है और ऐसे भोजन को कभी ना खाएं इससे पितृदोष लगाता है। इस दिन बाल व नाखून नहीं काटना चाहिए और ना ही दाढी बनवानी चाहिए।

पितृदोष को दूर करने का यही सही समय
पंडित अकसर लोगों की कुंडली देखते हुए पितृदोष की बात कहते हैं, ऐसे में इस पितृदोष को चंद उपाय कर हम दूर कर सकते हैं। इसके लिए दक्षिण दिशा की ओर मुंह कर पितरों को पीपल के पेड पर गंगाजल में काले तिल, चीनी, चावल व पुष्प डालकर अर्पित करना चाहिए व मिठाई का भोग भी लगाना चाहिए। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.