Monday, Jan 24, 2022
-->
satyarthi foundation taught the text of the constitution to more than 5 crore children

सत्यार्थी फाउंडेशन ने 5 करोड़ से अधिक बच्चों को पढ़ाया संविधान का पाठ

  • Updated on 11/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश की राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को संविधान दिवस के अवसर पर जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद को संबोधित कर रहे थे उसी समय संसद से महज कुछ किमी. दूर एंबेसी एरिया चाणक्यपुरी स्थिति संजय कैं प (स्लम बस्ती) की 12 साल की अस्मां ने बस्ती के बच्चों को संविधान की प्रस्तावना का पाठ कराया।

सीबीएसई बोर्ड टर्म-1 परीक्षा की तीन तरह के स्क्वॉड करेंगे निगरानी

संविधान दिवस पर फाउंडेशन ने 20 राज्यों में 8 लाख से अधिक जगहों पर किए कार्यक्रम
कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन द्वारा संचालित बाल मित्र मंडल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में आस्मां ने उन्हें उनके कर्तव्य और अधिकार की शपथ भी दिलाई। दरअसल कैलाश सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन (केएससीएफ) ने शुक्रवार को संविधान दिवस के मौके पर अपने सहयोगी संगठनों के साथ मिलकर देशभर के 20 राज्यों के 478 जिलों में सरकार और प्रशासन के साथ मिलकर 8 लाख (8,72,729) से अधिक जगहों पर ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए।

अब दिल्ली के हर प्राइमरी स्कूल को मिलेगा एक स्पेशल एजुकेटर

5 करोड़ से अधिक बच्चों ने किया संविधान की प्रस्तावना का पाठ 
जिनमें 5 करोड़ (5,0554417) से अधिक बच्चों ने संविधान की प्रस्तावना का पाठ किया और अपने अधिकार और कर्तव्य पूरे करने की शपथ ली। भारत सरकार आजादी के 75 साल पूरे होने पर साल भर तक अमृत महोत्सव मना रही है जिसके दौरान इस बार संविधान दिवस को बड़े पैमाने पर मनाया गया। कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन ने सरकार के साथ मिलकर इसे सफल बनाया और इतिहास रचा।

आईपी के आठ प्रोग्राम्स में स्पाट काउंसलिंग के लिए 26 नवम्बर से रजिस्ट्रेशन शुरू

एकजुट भारत बनाने के लिए संविधान में निहित उच्च मूल्यों को लोगों में करना होगा शामिल 
बच्चों की ऐतिहासिक भागीदारी पर सत्यार्थी चिल्ड्रेन्स फाउंडेशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी शरद चंद्र सिन्हा ने कहा कि हमारे सहयोग से विभिन्न पृष्ठभूमि के गरीब और हाशिए के बच्चों ने संविधान दिवस पर हमारे संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। निचली कक्षाओं में पढऩे वाले जो बच्चे खुद नहीं पढ़ सकते थे, उन्हें भी संविधान का पाठ पढ़ाया गया। हम दृढ़ता से मानते हैं कि एक न्यायपूर्ण, समान और एकजुट भारत बनाने का एकमात्र तरीका हमारे संविधान में निहित उच्च मूल्यों को शामिल करना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.