Wednesday, Sep 18, 2019
sbi''''''''''''''''s big gift to planners, home loan becomes cheaper now

SBI का ग्रहकों को बड़ा तोहफा, होम लोन अब और हुआ सस्ता

  • Updated on 9/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भारतीय स्टेट बैंक (State bank of india) ने ग्राहकों के लिए एक बार फिर बड़ा ऐलान किया है। एसबीआई ने MCLR के रेट को घटाते हुए इसमें 10 बेसिस पॉइंट (Basis point ) की कटौती कर दी है। बैंक ने MCLR को 8.25 से घटाकर 8.15 फीसदी कर दिया है। ग्राहकों को इसकी सुविधा 10 सिंतबर से मिलनी शुरू हो जाएगी।

RBI को सरकार अपना ‘एक्सटेंशन काउंटर’ नहीं बना सकती: बैंक कर्मचारी संघ

10 सितंबर से एक साल के लिए एमसीएलआर 8.15 फीसदी
MCLR का मतलब मार्जिन कॉस्ट ऑफ फंड्स बेस्ट लेंडिंग रेट और यह बैंक के अपनी लागत पर आधारित होता है। जब बैंक की फंड की लागत घटती है तो वह एमसीएलआर को घटा देता है। MCLR घटने से होम लोन ब्याज दर या ईएमआई पर कोई तत्काल असर नहीं होगा।

एसबीआई के ऐलान के मुताबिक 10 सितंबर से एक साल के लिए एमसीएलआर 8.15 फीसदी होगी। वित्त वर्ष 2019-20 में एसबीआई ने लगातार तीसरी बार एमसीएलआर में कटौती की है। इसके अलावा एसबीआई ने फिक्स्ड डिपोजिट (Fixed deposit) पर ब्याज दरो में बेसिस प्वाइंट यानी लगभग चौथाई फीसदी की कटौती कर दी है।  

पहली तिमाही में 18 सरकारी बैंकों में 31,898.63 करोड़ का फ्रॉड

एक साल के लिए रेट तय होता है
एसबीआई की फ्लोंटिग रेट होम लोन एमसीएलआर से जुड़ा होता है जिसमें एक साल के लिए रेट तय होता है इसका मतलब है अगर किसी के लिए रेट सितंबर में तय होता है और इसके बाद एमसीएलआर में बदलाव किया जाता है तो इसका फायदा अगले साल अगस्त तक ही मिल पाएगा।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.