Tuesday, Dec 07, 2021
-->
sc collegium recommends appointment permanent judges in karnataka high court rkdsnt

SC कॉलेजियम ने की कर्नाटक हाई कोर्ट में स्थायी जजों की नियुक्ति के लिए 10 नामों की सिफारिश

  • Updated on 9/8/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधान न्यायाधीश एन. वी. रमण की अध्यक्षता वाले उच्चतम न्यायालय के कॉलेजियम ने कर्नाटक उच्च न्यायालय में स्थायी न्यायाधीशों की नियुक्ति के लिए केंद्र सरकार के पास दस नामों की अनुशंसा भेजी है। कॉलेजियम 12 उच्च न्यायालयों में न्यायाधीशों की नियुक्ति के लिए एक बार में 68 नामों की अनुशंसा करने वाला है। 

करनाल सचिवालय के बाहर डटे प्रदर्शनकारी किसानों के साथ एक और दौर की वार्ता विफल

तीन सदस्यीय कॉलेजियम ने सात सितंबर को हुई बैठक में केरल उच्च न्यायालय के कॉलेजियम के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी जिसने दो अतिरिक्त न्यायाधीशों जस्टिस एम. आर. अनिता और जस्टिस के. नायर हरीपाल को स्थायी न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की अनुशंसा की थी। 

‘एंटलिया’ बम प्रकरण में सचिन वाजे ने मुंबई के अस्पताल में ट्रांसफर करने की अपील

उच्चतम न्यायालय के तीन सदस्यीय कॉलेजियम में जस्टिस यू. यू. ललित और जस्टिस ए. एम. खानविलकर भी शामिल हैं। उच्चतम न्यायालय ने सात सितंबर को कॉलेजियम द्वारा केंद्र को की गई अनुशंसाओं के बारे में तीन अलग-अलग बयान जारी किए हैं।     सरकार अगर प्रस्ताव को स्वीकार कर लेती है तो दस अतिरिक्त न्यायाधीश कर्नाटक उच्च न्यायालय में स्थायी न्यायाधीश बन जाएंगे। 

अनिल घनवत का दावा- कृषि कानूनों को लेकर SC कमेटी की रिपोर्ट सौ फीसदी किसानों के पक्ष में 

जिन दस नामों की अनुशंसा की गई है वे हैं -- जस्टिस शिवशंकर अमरन्नावर, जस्टिस एम. गणेशैया उमा, जस्टिस वेदव्यासाचार श्रीसानंद, जस्टिस एच. संजीव कुमार, जस्टिस पद्मराज नेमचंद्र देसाई, जस्टिस पी. कृष्ण भट, जस्टिस मारालुर इंद्रकुमार अरूण, जस्टिस ई. सीतारमैया इंदिरेश, जस्टिस रवि वेंकप्पा होसमनी और जस्टिस सवानूर विश्वजीत शेट्टी।   

फैसला लिखना कला है, इसमें कानून और तर्क का कुशल समावेश शामिल है: सुप्रीम कोर्ट 

 


 

comments

.
.
.
.
.