Sunday, Apr 18, 2021
-->
sc summoned reply from modi bjp govt cvc plea against ed director tenure rkdsnt

ED निदेशक का कार्यकाल के खिलाफ याचिका पर मोदी सरकार, CVC से SC का जवाब तलब

  • Updated on 2/15/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय ने सोमवार को एक जनहित याचिका पर केंद्र सरकार और केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) से जवाब मांगा है जिसमें संजय कुमार मिश्रा के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के निदेशक के तौर पर नियुक्ति के लिए 2018 के आदेश में पूर्वप्रभाव से बदलाव किए गए। इस कारण उनका कार्यकाल दो वर्ष से बढ़कर तीन वर्ष हो गया। 

किसान आंदोलन के बीच सुप्रीम कोर्ट के पैनल ने की कृषि विशेषज्ञों से चर्चा

भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी मिश्रा को 19 नवंबर 2018 के आदेश से दो वर्षों के लिए ईडी का निदेशक नियुक्त किया गया था और बाद में केंद्र सरकार ने 13 नवंबर 2020 के आदेश से उनके नियुक्त पत्र को ‘‘पूर्वप्रभाव’’ से संशोधित कर दिया और उनके ‘दो’ वर्ष के कार्यकाल को बदलकर ‘तीन’ वर्ष कर दिया। 

हाई कोर्ट का सुशांत राजपूत की बहन के खिलाफ FIR खारिज करने से इनकार

जस्टिस एल. नागेश्वर राव और जस्टिस रविंद्र भट की पीठ ने गैर सरकारी संगठन ‘कॉमन कॉज’ की तरफ से दायर जनहित याचिका पर ईडी निदेशक को भी नोटिस जारी किया। एनजीओ की तरफ से पेश हुए वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि मिश्रा को कोई सेवा विस्तार नहीं दिया जाना चाहिए था क्योंकि मई 2020 में वह 60 वर्ष के हो रहे थे और इस तरह के अवैध सेवा विस्तार से निदेशक पद की स्वतंत्रता ‘‘नष्ट’’ हो जाती। 

केजरीवाल कृषि कानूनों के खिलाफ यूपी में किसान महापंचायत को करेंगे संबोधित

 

सचिन समेत सेलिब्रिटी ट्वीट मामले में ठाकरे सरकार के निशाने पर BJP आईटी सेल

एनजीओ ने 13 नवंबर 2020 के सरकारी आदेश को रद्द करने के अलावा केंद्रीय वित्त मंत्रालय को ‘‘प्रवर्तन निदेशालय में पारदर्शी तरीके से और केंद्रीय सतर्कता आयोग कानून, 2003 के अनुच्छेद 25 के मुताबिक निदेशक नियुक्त करने का निर्देश देने की आग्रह किया।’’      

कन्हैया का मोदी सरकार पर तंज, बोले- उनके बच्चे BCCI के अध्यक्ष बनेंगे और आपके...

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...


 

comments

.
.
.
.
.