Tuesday, Apr 13, 2021
-->
school-admission-without-transfer-certificate-delhi-high-court-kmbsnt

कोरोना काल में छात्रों की सुविधा के लिए दिल्ली HC ने स्कूलों को दाखिला संबंधित दिया ये निर्देश

  • Updated on 10/27/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना महामारी (Corona pandemic) के दौरान स्कूलों में दाखिले (Admission) को लेकर परेशान छात्रों और अभिभावकों के लिए एक राहत भरी खबर है। दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट स्कूलों को महत्वपूर्ण आदेश दिया है। रामजस स्कूल में पढ़ने वाले 2 बच्चों की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने छात्रों की सुविधा और कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए ये आदेश दिया है।

साथ ही दोनों बच्चों का तत्काल दाखिला करने का भी स्कूलों ने आदेश दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट की ओर से कहा गया है कि अगर किसी बच्चे के पास ट्रांसफर सर्टिफिकेट नहीं है, तब भी स्कूल को उस बच्चे को दाखिला देना होगा। इसके साथ ही ओरिजिनल मार्कशीट के स्थान पर 10वीं की बोर्ड के द्वारा जारी ऑनलाइन रिजल्ट की कॉपी भी से भी दाखिला देना होगा।

हाल ही में कोरोना की वजह से अभिभावकों और छात्रों को झेलनी पड़ रही परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह आदेश जारी किया गया है। बच्चों की ओर से याचिका दायर करने वाले एडवोकेट अशोक अग्रवाल का कहना है कि यह एक बहुत महत्वपूर्ण आदेश है।

Delhi: त्योहार और सर्दी के मौसम में कोरोना के रोजाना आ सकते 12-14 हजार मामले- सत्येंद्र जैन 

अभिभावकों और बच्चों के सामने बहुत परेशानी
दिल्ली-एनसीआर ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों में भी अभिभावकों और बच्चों के सामने बहुत परेशानी आ रही है। फीस न भर पाने के कारण प्राइवेट से सरकारी स्कूलों में दाखिला ले रहे छात्रों को प्राइवेट स्कूल टीसी नहीं दे रहे हैं। इसके अलावा मार्कशीट भी रोकी जा रही है। वहीं सरकारी और अन्य स्कूल भी छात्रों को बिना टीसी के दाखिला नहीं दे रहे हैं। ऐसे में दिल्ली हाई कोर्ट का यह आदेश बहुत जरूरी और राहत भरा है। 

दिल्ली पुलिस के Sub-inspector ने की अश्लील हरकत, एक दिन में की 3 महिलाओं के साथ छेड़छाड़

कोरोना काल में तंगी के कारण सरकारी स्कूल में दाखिले को मजबूर अभिभावक
कोरोना के कारण करोड़ों लोगों का रोजगार चला गया है। वहीं कई लोगों की नौकरी बची है तो वेतन  समय पर नहीं आ रहा है। ऐसे में जो लोग अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में पढ़ा रहे थे वो अब इन स्कूलों की भारी भरकम फीस जमा करने में असमर्थ हैं, ऐसे में लोग मजबूरी में अपने बच्चों का दाखिला सरकारी स्कूलों में करवा रहे हैं। दाखिले के समय ट्रांस्फर सर्टिफिकेट और ऑनलाइन मार्कशीट के कारण हो रही परेशानी से अब हाईकोर्ट के फैसले के बाद लोगों को कुछ राहत मिलेगी। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.