Friday, Dec 03, 2021
-->
school mitra''''s will have direct contact with 18 lakh parents, parent interaction program launched

18 लाख अभिभावकों से सीधा संपर्क करेंगे स्कूल मित्र : सिसोदिया, अभिभावक संवाद कार्यक्रम हुआ लांच

  • Updated on 10/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वीरवार को त्यागराज स्टेयिम में आयोजित एक कार्यक्रम में दिल्ली सरकार के स्कूलों में पढऩे वाले बच्चों और अभिभावकों के साथ संपर्क कायम करने वाले अभिभावक संवाद प्रोग्राम की शुरुआत की। सिसोदिया के अनुसार कि कार्यक्रम के तहत 18 लाख से अधिक अभिभावकों से सीधा संपर्क कायम किया जाएगा और इस कार्यक्रम का नाम है अभिभावक संवाद : आइए अभिभावकों से बात करें।

उच्चतम न्यायालय ने एनटीए को नीट-यूजी 2021 परिणाम घोषित करने की अनुमति दी

बच्चों को सिर्फ अभिभभावक चाहिए बॉस या दोस्त नहीं ः सिसोदिया
त्यागराज स्टेडियम में कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए सिसोदिया ने कहा कि यहां अभिभावकों द्वारा दो तरह की देखरेख प्रचलित है। या तो बिल्कुल देखरेख नहीं होती या हद से ज्यादा निगरानी की जाती है और दोनों ही बच्चों के संपूर्ण विकास के लिए हानिकारक हैं। अभिभावक या तो बच्चों के बॉस बन जाते हैं और उन्हें निर्देश देते हैं या नई पीढ़ी के अभिभावक दोस्त बनने का प्रयास करते हैं, लेकिन बच्चों को सिर्फ अभिभावक चाहिए बॉस या दोस्त नहीं। उनके जीवन में यह भूमिका निभाने के लिए अलग लोग हैं।

स्कूलों में कोविड सुरक्षा इंतजामों में अभिभावकों की मर्जी होगी अहम : शिक्षक

कार्यक्रम से बच्चों को मिलेगी शिक्षा के साथ बेहतर पैरेंटिंग
उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के दौरान हमारे स्कूल मित्र 18 लाख से अधिक अभिभावकों से संपर्क करेंगे। दिल्ली सरकार स्कूल मित्र के तौर पर काम करने के लिए स्वयंसेवी अभिभावकों से सहयोग मांगेगी ताकि स्कूल प्रबंधन समितियों और अभिभावकों के बीच की दूरी को पाटा जा सके। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य पेरेंट्स व स्कूलों को आपस में जोडऩा है ताकि दोनों के समावेश के साथ बच्चों को बेहतर शिक्षा के साथ-साथ बेहतर पेरेंटिंग भी मिल सके।

राजधानी की 649 छात्राओं को दिया जाएगा आत्मरक्षा प्रशिक्षण

कार्यक्रम से बढ़ेगा पैरेंट्स का बच्चों की शिक्षा में सहयोग
कोरोना महामारी के दौरान ये सवाल उठकर आया कि बच्चों की शिक्षा सही तरीके से कैसे हो पाएगी व ऑनलाइन शिक्षा में आने वाली बाधा को कैसे दूर किया जा सकता है ? कैसे बच्चों को तनाव की स्थिति में सहयोग दिया जा सकता है व पैरेंट का सहयोग बच्चों की शिक्षा में किस तरह से बढ़ाया जा सकता है। पैरेंटल आउटरीच प्रोग्राम इसके हल कर रूप में सामने आया है।

31 अक्तूबर को स्कूलों में मनाया जाएगा राष्ट्रीय एकता दिवस

पॉयलट चरण में मिल चुकी है इस कार्यक्रम को सफलता
बता दें इससे पहले पैरेंट आउटरीच प्रोग्राम को पायलट चरण में पूर्वी व दक्षिणी पूर्वी जिलों के 40 स्कू लों में शुरू किया गया। जिससे बच्चों की पढ़ाई में न सिर्फ अभिभावकों सहभागिता बढ़ी बल्कि अभिभावकों का स्कूल से जुड़ाव और भी बेहतर हुआ। इतना ही नहीं स्कूलों से बच्चों की ड्रॉपआउट दर कम हुई और उपस्थिति में भी बढ़ोत्तरी देखी गई। कार्यक्रम में कालकाजी विधायक आतिशी, डीसीपीसीआर चेयरपर्सन अनुराग कुंडू, शिक्षा निदेशक हिंमाशू गुप्ता, शिक्षा सचिव एच राजेश प्रसाद और शैलेंद्र शर्मा सहित अन्य गणमाण्य उपस्थित रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.