Saturday, Jan 29, 2022
-->
schools open for students of 9th-11th from today prshnt

9वीं- 11वीं के छात्रों के लिए आज से खुले स्कूल, मनीष सिसोदिया ने बच्चों से की मुलाकात

  • Updated on 2/5/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना के कारण पिछले मार्च से घरों से डिजिटली शिक्षा हासिल कर रहे 9वीं-11वीं के छात्रों के लिए आज से राजधानी के स्कूल खुल गए। स्कूल इन छात्रों के मिड टर्म- वार्षिक परीक्षाओं की तैयारी और प्रक्टिकल-प्रोजेक्ट कार्य के लिए कोविड-19 नियमों से खोले गए हैं। साथ ही छात्र किसी भी विषय में आ रही परेशानी को भी थ्योरी क्लास में शिक्षक से पूछ सकेंगे। स्कूलों के लिए निदेशालय ने मानक संचालन प्रक्रिया(एसओपी) जारी की है। 9वीं-11वीं के छात्रों को उनके अभिभावकों की लिखित अनुमति लेकर ही स्कूल आना होगा।

स्कूल खुलने पर दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया राष्ट्रीय राजधानी के एक सरकारी स्कूल में छात्रों से मुलाकात करने पहुंचे।

किसान मुद्दे पर कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा सत्र की मांग को लेकर निकाला मार्च

मिड टर्म व वार्षिक परीक्षाओं के लिए गाइड
स्कूलों की लैब व कक्षाओं में एक समय में केवल 12-15 छात्रों को ही आने की अनुमति दी गई है। फिलहाल स्कूल में प्रार्थना सभा या आउटडोर गतिविधियां आयोजित करने की अनुमति नहीं होगी। खांसी, जुकाम, बुखार आदि लक्षण वाले छात्रों को आने की अनुमति नहीं होगी। स्कूल में आपातकालीन स्थिति के लिए एक क्वारंटीन रूम भी तैयार रखने को कहा गया है। कंटेनमेंट जोन के बाहर स्थित स्कूलों को ही इन गतिविधियों को संचालित करने की अनुमति होगी।

इस दौरान स्कूल छात्रों को मिड टर्म व वार्षिक परीक्षाओं के लिए गाइड करेंगे, प्रक्टिकल टाइम टेबल, मिड टर्म और वार्षिक परीक्षा से जुड़े प्रक्टिकल, प्रोजेक्ट जमा करने व मूल्यांकन के लिए योजना तैयार करेंगे, 9वीं -11वीं के जिन छात्रों का जो सिलेबस छूटा है उसे कक्षाओं में पूरा कराएंगे। छात्रों को सीबीएसई द्वारा तैयार किए गए प्रश्न पत्रों के अनुसार वैकल्पिक, सोर्स आधारित, महत्वपूर्ण, एनालिटिकल व एप्लीकेशन आधारित सवालों के लिए गाइड करेंगे। 

अमेरिका ने किया साफ- शांतिपूर्ण प्रदर्शन, इंटरनेट तक बेरोक पहुंच सफल लोकतंत्र की खासियत

निदेशालय ने मानक संचालन प्रक्रिया जारी
मार्च से स्कूल बंदी के कारण घरों से डिजिटली शिक्षा हासिल कर रहे 9वीं-11वीं के छात्रों के लिए आज से राजधानी के स्कूल खोले जाएंगे। स्कूल इन छात्रों के मिड टर्म-वार्षिक परीक्षाओं की तैयारी व प्रक्टिकल-प्रोजेक्ट कार्य के लिए कोविड-19 नियमों से खोले जा रहे हैं। साथ ही छात्र किसी भी विषय में आ रही परेशानी को भी थ्यूरी क्लास में शिक्षक से पूछ सकेंगे। स्कूलों के लिए निदेशालय ने मानक संचालन प्रक्रिया(एसओपी) जारी की है। 9वीं-11वीं के छात्रों को उनके अभिभावकों की लिखित अनुमति लेकर ही स्कूल आना होगा।

रिसर्च में हुआ खुलासा, भोजन की तलाश में गिद्ध करते हैं 150 KM तक की दूरी तय

स्कूलों को ही इन गतिविधियों को संचालित करने की अनुमति
स्कूलों की लैब व कक्षाओं में एक समय में केवल 12-15 छात्रों को ही आने की अनुमति दी गई है। फिलहाल स्कूल में प्रार्थना सभा या आउटडोर गतिविधियां आयोजित करने की अनुमति नहीं होगी। खांसी, जुकाम, बुखार आदि लक्षण वाले छात्रों को आने की अनुमति नहीं होगी। स्कूल में आपातकालीन स्थिति के लिए एक क्वारंटीन रूम भी तैयार रखने को कहा गया है। कंटेनमेंट जोन के बाहर स्थित स्कूलों को ही इन गतिविधियों को संचालित करने की अनुमति होगी।

इस दौरान स्कूल छात्रों को मिड टर्म व वार्षिक परीक्षाओं के लिए गाइड करेंगे, प्रक्टिकल टाइम टेबल, मिड टर्म और वार्षिक परीक्षा से जुड़े प्रक्टिकल, प्रोजेक्ट जमा करने व मूल्यांकन के लिए योजना तैयार करेंगे, 9वीं -11वीं के जिन छात्रों का जो सिलेबस छूटा है उसे कक्षाओं में पूरा कराएंगे। छात्रों को सीबीएसई द्वारा तैयार किए गए प्रश्न पत्रों के अनुसार वैकल्पिक, सोर्स आधारित, महत्वपूर्ण, एनालिटिकल व एप्लीकेशन आधारित सवालों के लिए गाइड करेंगे। 

राजनाथ सिंह बोले समुद्री क्षेत्रों में विरोधाभासी दावों का नेगेटिव असर दिखा...

स्कूलों ने बनाई योजना
रोहिणी स्थित माऊंट आबू स्कू ल की प्रिंसिपल ज्योति अरोड़ा ने कहा कि स्कू ल को प्रॉपर सैनिटाइज किया जा चुका है। अपने एसओपी के हिसाब से 9वीं-11वीं के हर सेक्शन को दो ग्रुपों में डिवाइड कर बुलाने का फैसला किया है। दो घंटे प्रक्टिकल, डेढ़ घंटा शंका समाधान व बाकी हिस्सा टेस्ट के लिए रखा गया है। 9वीं-11वीं के छात्रों का हम मॉक टेस्ट भी कराएंगे। 

शालीमार बाग स्थित मॉडर्न पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल अल्का कपूर ने कहा कि हमने 9वीं-11वीं के कई अभिभावकों से बात की है। उनकी सहमति से बच्चों को स्कूल बुलाया जाएगा। द्वारका स्थित जिंदल पब्लिक स्कू ल के प्रिंसिपल उत्तम सिंह ने कहा कि सैनिटाइजेशन प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। 9वीं-11वीं के छात्रों को पूरा सुरक्षित माहौल दिया जाएगा।
11वीं कक्षा के छात्रों का स्कूल 1 मार्च से स्कूल स्तरीय प्रैक्टिकल, प्रोजेक्ट व इंटरनल एसेसमेंट कराएंगे। 11वीं कक्षा की मिड टर्म परीक्षाएं 20 मार्च से 15 अप्रैल तक दोपहर 2.30 से शाम 5.30 तक कराई जाएंगी।

वार्षिक परीक्षाओं के लिए घटाए गए सिलेबस के अनुसार प्रश्न-पत्र तैयार किए जाएंगे। वहीं 9वीं कक्षा के लिए पीरियोडिक एसेसमेंट-1 व 2 फरवरी के चौथे हफ्ते व मार्च के तीसरे हफ्ते में आयोजित करेंगे। 9वीं की मिड टर्म परीक्षाएं 1 अप्रैल से 15 अप्रैल तक आयोजित की जाएंगी। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.