Tuesday, May 17, 2022
-->
scientist warns mars rock samples could bring new viruses to earth prsgnt

वैज्ञानिकों ने चेताया- मंगल ग्रह से आ सकता है पृथ्वी पर कोई नया वायरस!

  • Updated on 5/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस के बीच दूसरे ग्रहों पर जाने की सोच रहे वैज्ञानिकों को एक नई आशंका ने चिंता में डाल दिया है। इस बारे में चेतावनी दी गई है कि दूसरे ग्रहों से लाए गये नमूने धरती पर नए वायरस का खतरा बन सकते हैं।

इस बारे में अमेरिका की अंतरिक्ष शोध एजेंसी और वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि दूसरे ग्रहों से साथ लाए नमूने पृथ्वी पर किसी नए वायरस को जन्म देने का खतरा बढ़ा सकते हैं। एक्सपर्ट की माने तो ने मंगल ग्रह से पृथ्वी पर लाए जाने वाले नमूनों में भी ऐसी संभावना हो सकती है।

डार्क मैटर, ब्रह्मांड का वो हिस्सा जो आज तक वैज्ञानिकों के लिए रहस्य है, जानिए क्यों?

इस बारे में स्टैंडफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर स्कॉट हबार्ड ने बताया है कि मंगल ग्रह से लाई गई मिट्टी के नमूने धरती पर किसी नए वायरस को साथ ला सकते हैं। इसलिए मंगल ग्रह से लौटते हुए ‘'प्लानैटरी प्रोटेक्शन' पर ध्यान देना होगा।

क्रिस्टी पर शुरू हुई चांद के टुकड़े की नीलामी, कीमत है 2 मिलियन पाउंड

उन्होंने यह भी कहा कि मंगल ग्रह की चट्टानें जो लाखों साल पुरानी हैं उनमें एक सक्रिय जीवन सूत्र जरूर होगा, जो हो सकता है पृथ्वी पर आने के बाद यहां संक्रमण फैलाए। इसलिए जरूरी है कि सैंपल को लाने के बाद इसे आइसोलेशन में तब तक रखा जाए जब तक ये न हो जाए कि इसमें इबोला वायरस के जैसा कोई खतरा शामिल नहीं है।

भारतीय मूल की छात्रा ने सुझाया नासा के मार्स हेलीकॉप्टर का नाम, नासा ने की घोषणा

स्कॉट हबार्ड ने इस बात पर जोर दिया है कि पृथ्वी पर नमूना लाने वाले एस्ट्रोनॉट्स को भी क्वारनटीन किया जाना चाहिए। जैसे पहले अपोलो मिशन के बाद चांद पर भेजे गए एस्ट्रोनॉट्स के साथ किया गया था। इसके साथ ही अंतरिक्ष यानों के लिए भी प्रोटोकॉल होना चाहिए।

खत्म होने वाला है सूरज! आखिर क्यों कम हो गई सूरज की चमक, जानिए क्या कहते हैं वैज्ञानिक

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया है कि मिशन में शामिल रॉकेट्स और तमाम उपकरणों को कैमिकल क्लीनिंग प्रोसेस में रखा जाना चाहिए और इन्हें हाई हीट पर रखा जाना चाहिए।

सेना के लिए तैयार होगी मकड़ी के जाले से बुनी बुलेटप्रूफ जैकेट, हैरान कर देगी इस जैकेट की खासियत

बता दें कि कई वैज्ञानिक मंगल ग्रह के नमूनों को पृथ्वी के लिए खतरा नहीं मानते हैं, लेकिन इस बारे में आज तक कोई भी वैज्ञानिक अपने तर्क को साबित नहीं कर पाया है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.