Wednesday, Jun 19, 2019

शानदार- ब्लैक होल को खोजने में वैज्ञानिकों ने पाई सफलता, सामने आई पहली तस्वीर

  • Updated on 4/10/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुनियाभर के वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं के लिए मिस्ट्री बने ब्लैक होल (black whole) की पहली तस्वीर आज बुधवार को जारी की गई है। यह तस्वीर भारतीय समयानुसार शाम को 6 बजे जारी की गई। 

Navodayatimes

ब्लैक होल की यह तस्वीर इवेंट हॉरिजन टेलिस्कोप द्वारा ली गई। हॉरिजन टेलिस्कोप (Event Horizon Telescope) को  दुनिया भर में छह जगहों पर लगाया गया है। हवाई, एरिजोना, स्पेन, मेक्सिको, चिलि और दक्षिणी ध्रुव देशो में हॉरिजन टेलिस्कोप (Event Horizon Telescope) यह लगाया गया है।

शीला-पटेल की मुलाकात के बाद AAP ने गठबंधन पर रुख किया साफ

 इवेंट हॉरिजन टेलिस्कोप (Event Horizon Telescope) खासतौर पर ब्लैक होल की तस्वीर लेने के लिए ही बनाया गया है। अमेरिका, ब्रसेल्स, टोकियो, सैंटियागो, शंघाई व ताइपे में भी प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर ब्लैकहोल की पहली तस्वीर जारी की गई।

कैसे ली गई टेलिस्कोप से तस्वीर
अप्रैल 2017 में हवाई, एरिजोना, स्पेन, मेक्सिको, चिली और दक्षिणी गोलार्द्ध में आठ रेडियो टेलीस्कोप को स्थापित किया गया था। इन टेलीस्कोप की मदद से ब्रह्माांड के दो अलग-अलग किनारों पर मौजूद ब्लैक होल का डेटा इकट्ठा किया गया।

अल्पेश ठाकोर ने लोकसभा चुनाव से पहले गुजरात कांग्रेस को दिया बड़ा झटका

फ्रांस के ग्रीनोबल शहर स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ मिलीमेट्रिक रेडियो एस्ट्रोनॉमर माइकल ब्रिमर ने कहा, 'हमने कोई लार्ज टेलीस्कोप इसलिए नहीं बनाया, क्योंकि वह अपने वजन के चलते ही टूट सकता है। हमने कई सारे रेडियो टेलीस्कोप से ली गई तस्वीरों को इस तरह जोड़ा है जैसे वह किसी बड़े से शीशे का टुकड़ा हो।'

क्या है ब्लैक होल 
ब्लैक होल अंतरिक्ष का एक ऐसा रहस्य है, जिसे आज तक कोई जान नहीं पाया है इसे लेकर कई तरह के अनुमान लगाए गए है। ब्लैक होल ऐसी खगोलीय शक्ति है, जिसका गुरुत्वाकर्षण क्षेत्र काफी शक्तिशाली होता है। इसके खिंचाव से कुछ नहीं बच सकता। ब्लैक होल के चारों ओर एक सीमा होती है। 

स्वरा भास्कर ने कन्हैया कुमार की नामांकन रैली में BJP-RSS पर बोला हमला

उस सीमा को घटना क्षितिज कहा जाता है। उसमें वस्तुएं गिर तो सकती है, लेकिन वापस नहीं आ सकती। इसलिए इसे ब्लैक होल कहा जाता है। क्योंकि यह अपने ऊपर पड़ने वाले सारे प्रकाश को अवशोषित कर लेता है और उसके बदले में कुछ भी परावर्तित नहीं करता है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.