Wednesday, Aug 10, 2022
-->
sebi releases gold exchange framework for gold trading rkdsnt

SEBI ने जारी की सोने के कारोबार के लिए ‘गोल्ड एक्सचेंज’ की रूपरेखा

  • Updated on 1/10/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पूंजी बाजार नियामक सेबी ने सोमवार को सोने के इलेक्ट्रॉनिक रूप में कारोबार के लिए स्वर्ण एक्सचेंज (गोल्ड एक्सचेंज) के परिचालन की रूपरेखा जारी की। इस बाजार में सोने का कारोबार इलेक्ट्रॉनिक स्वर्ण रसीद (ईजीआर) के रूप में होगा। भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने एक परिपत्र में कहा कि जो शेयर बाजार ईजीआर में कारोबार शुरू करने के इच्छुक हैं, वे इसके लिये आवेदन कर सकते हैं। 

‘धर्म संसद’ में कथित घृणा भाषणों के खिलाफ PIL पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट 

 

शेयर बाजार कारोबार या ईजीआर को स्वर्ण में बदलने को लेकर विभिन्न मात्रा के साथ अनुबंध शुरू कर सकते हैं। नई रूपरेखा के तहत, पूरा सौदा तीन चरणों...ईजीआर तैयार करना, शेयर बाजार में ईजीआर में कारोबार और ईजीआर को भौतिक रूप से सोने में बदलना...में होगा। डिपॉजिटरीज एक साझा मंच विकसित करेंगे। इस मंच पर सबकी पहुंच होगी। इसमें डिपॉजिटरीज, शेयर बाजार, समाशोधन निगम, ‘वॉल्ट’ प्रबंधक शामिल हैं।

वकीलों का दावा : पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक की जांच रोकने के लिए धमकी भरे फोन 

 
‘वॉल्ट’ यानी तिजोरी या ‘स्ट्रांग रूम’ प्रबंधक का काम मान्यता प्राप्त भंडारण स्थानों पर सोने को रखना है। ‘वॉल्ट’ प्रबंधक को सोना सेबी द्वारा निर्धारित तरीकों से रखना होगा। साथ ही गुणवत्ता सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी भी उनकी ही होगी। सेबी ने कहा कि नया विधान तत्काल प्रभाव से अमल में आएगा। इससे पहले सरकार ने प्रतिभूति अनुबंध (नियमन) कानून, 1956 के तहत 24 दिसंबर को एक अधिसूचना के जरिये इलेक्ट्रॉनिक स्वर्ण रसीद को प्रतिभूति के रूप में घोषित किया था। नियामक ने अलग से 31 दिसंबर को ‘वॉल्ट’ प्रबंधकों के लिये नियम अधिसूचित किये थे। 

बुली बाई ऐप मामला : दो आरोपियों को कोर्ट से नहीं मिली राहत

सेबी के परिपत्र के अनुसार, भौतिक रूप से सोने की आपूर्ति स्वर्ण की ताजा जमा राशि होगी। इसे ईजीआर में परिवर्तित किया जाएगा। सोने की आपूर्ति या तो आयात के माध्यम से या शेयर बाजार से मान्यता प्राप्त घरेलू रिफाइनरियों के माध्यम से तिजोरी या स्ट्रांग रूप में की जाएगी। तिजोरी में जमा सोने को ईजीआर में तब्दील करने पर विचार किया जा सकता है। ‘वॉल्ट’ प्रबंधक यह सुनिश्चित करेंगे कि सोने को ईजीआर में बदलने पर वे सभी मानदंडों को पूरा करे।

गोवा में मंत्री माइकल लोबो, एक अन्य विधायक ने चुनाव से पहले BJP को दिया झटका

comments

.
.
.
.
.