Thursday, Oct 28, 2021
-->
second-all-made-in-india-fighter-jet-aircraft-to-be-developed-prsgnt

तेजस के बाद दूसरे मेड इन इंडिया फाइटर जेट को बनाने की मिली मंजूरी, अगले 6 साल में भरेगा उड़ान

  • Updated on 6/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लड़ाकू विमान तेजस-एन के लैंडिंग ट्रायल के सफल होने के बाद अब एरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी से दूसरे मेड-इन-इंडिया के तहत बनाए जा रहे लड़ाकू विमान को बनाने को लेकर मंजूरी दे दी है।

बताया जा रहा है इस नए प्रोजेक्ट के लिए डबल इंजन वाला लड़ाकू विमान बनाया जाएगा। ऐसी उम्मीद की जा रही है कि यह नया फाइटर जेट अगले 6 सालों में तैयार कर लिया जाएगा। इसके बनने के बाद इसे आईएनएस विक्रमादित्य और नौसेना के बेड़े में शामिल किए जाने वाले आईएनएस विक्रांत पर तैनाती दी जाएगी।

बताया जा रहा है कि बनने वाला यह लड़ाकू विमान भारत निर्मित निर्मित तेजस-एन प्रोटोटाइप के डबल इंजन का अपर लेवल वर्जन होगा। ये योजना ऐसे समय में बनाई गई है जब भारत सरकार ने अपने आत्मनिर्भर प्रोजेक्ट के अंतर्गत सुरक्षा क्षेत्र में कई तरह के संरचनात्मक सुधारों का ऐलान कर चुकी है। इसके तहत अब सरकार ने देश की सुरक्षा के लिए इंपोर्ट कम करने का लक्ष्य रखा है।

आधे किलोमीटर से भी उड़ान भर सकता है तेजस, जानिए इसकी अन्य खूबियां

वहीँ, इस फाइटर जेट की डिजाइनिंग और डेवलपमेंट करने में लगी टीम का कहना है कि यह नया लड़ाकू विमान तेजस-एन का एडवांस वर्जन है और उससे कहीं ज्यादा बेहतर भी है।

बताया जा रहा है कि इस नए जेट की परफॉर्मेंस को देखने के लिए इसके लक्ष्य में यूएस नेवी में शामिल बोइंग के F/A-18 E/F सुपर होर्नेट और फ्रेंच नेवी एयरक्राफ्ट कैरियर चार्ल्स डी गॉल पर तैनात मरीन रफाल  की तुलना की जा सकती है।

नौसेना की बड़ी उपलब्धि, तेजस ने विमान वाहक पोत से सफलतापूर्वक भरी उड़ान

वहीँ, ये भी बताया जा रहा है कि इस नए जेट के लिए तीन डिजाइनों पर अभी शोध चल रहा है। अनुमान है कि इस जेट के सेना में शामिल होने के बाद यह जेट नेवी के मिग-29K फाइटर जेट्स की जगह ले सकता है। बहरहाल, अभी आईएनएस विक्रमादित्य पर ये फाइटर जेट्स तैनाती दे रहा हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.