Wednesday, Jun 19, 2019

दूसरे चरण में पश्चिमी UP का होगा फैसला, कब्जे के लिए कांटे की टक्कर

  • Updated on 4/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) के पहले चरण के बाद सियासी मैदान में दूसरे चरण (Second Phase) के दौर की तैयारी जोरों पर है। इसमें 13 राज्यों की 97 सीटों पर चुनाव होने वाले हैं और सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के पश्चिमी हिस्से की 8 सीटों का फैसला होगा।

इसमें नगीना, बुलंदशहर, आगरा, हाथरस, अमरोहा, अलीगढ़, मथुरा और फतेहपुर सीकरी सीट पर चुनाव होने हैं...

नगीना (Nagina)

बिजनौर जिले की नगीना अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीट है। बीएसपी के खाते में गई इस सीट से गिरीश चंद्र प्रत्याशी हैं। बीजेपी ने मौजूदा सांसद यशवंत सिंह और कांग्रेस ने पूर्व आईएएस आरके सिंह  की पत्नी ओमवती को उतारा है। इस पर फैसला मुस्लिम के हाथ में है।

फतेहपुर सीकरी (Fatehpur sikri)

फतेहपुर सीकरी सीट से बसपा के गुड्डु पंडित, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर और बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद बाबूलाल चौधरी का टिकट काटकर राजकुमार चहेर को उतारा है। इस सीट पर दो लाख जाट मतदाताओं और तीन लाख ब्राह्मण के बीच नजर आ रहा है।

उत्तर प्रदेश में 11 लोकसभा सीटों पर सपा, बसपा को पिछले 20 साल में नसीब नहीं हुई जीत

अमरोहा (Amroha)

अमरोहा सीट से बसपा के कुंवर दानिश है और बीजेपी ने अपने मौजूदा सांसद कंवर सिंह तंवर को ही सामने रखा है। वहीं कांग्रेस ने सचिन चौधरी को मैदान में उतारा है। इस सीट रा फैसला  5 लाख मुस्लिम, 2.5 लाख दलित, 1 लाख गुर्जर, 1 लाख कश्यप, 1.5 लाख जाट और 95 हजार लोध मतदाताओं के हाथों में है।

अलीगढ़ (Aligarh)

अलीगढ़ लोकसभा सीट से बीजेपी के मौजूदा सासंद सतीश गौतम, कांग्रेस के चौधरी बिजेन्द्र सिंह और बसपा के अजीत बालियान मैदान में हैं। यहां यादव, ब्राह्मण, राजपूत और जाट के करीब डेढ़-डेढ़ लाख वोट और 3 लाख दलित और लगभग 2 लाख मुस्लिम मतदाता हैं।

हाथरस (Hathras)

हाथरस सीट पर बीजेपी ने राजवीर सिंह बाल्मीकि और सपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री रामजीलाल सुमन के बीच टक्कर है। वहीं, कांग्रेस ने त्रिलोकीराम दिवाकर को प्रत्याशी बनाया है। ये सीट जाट बहुल है, जिसमें 3 लाख जाट, 2 लाख ब्राह्मण, 1.5 लाख राजपूत, 3 लाख दलित, 1.5 लाख बघेल और 1.25  लाख मुस्लिम मतदाता हैं।

दूसरे चरण में सटीक बैठेगा मायावती का वोट बैंक समीकरण?

बुलंदशहर (Bulandshahr)

इस सीट पर बसपा के योगेश वर्मा, बीजेपी के मौजूदा सांसद भोला सिंह और कांग्रेस के बंसी सिंह पहाड़िया मैदान में हैं। यहां करीब 1.5 लाख ब्राह्मण, 1 लाख राजपूत, 1 लाख यादव, 1 लाख जाट, 3.5 लाख दलित, 2.5 लाख मुस्लिम और 2 लाख लोध मतदाता हैं।

मथुरा (Mathura)

मथुरा सीट से बीजेपी से हेमा मालिनी, आरएलडी से कुंवर नरेंद्र सिंह और कांग्रेस से महेश पाठक मैदान में हैं। यहां पर सबसे अधिक आबादी 4 लाख जाट समुदाय की है और 2.5 लाख ब्राह्मण और 2.5 लाख राजपूत वोटर भी हैं।

आगरा (Agra)

आगरा सीट से बसपा के मनोज सोनी, बीजेपी के एसपी सिंह बघेल औऔर कांग्रेस के प्रीता हरित मैदान में हैं। यहां 37 फीसदी वोटर दलित और मुस्लिम हैं। आजादी के बाद आगरा को कांग्रेस का गढ़ कहा जाता रहा है। 1952 से लेकर 1971 तक यहां से कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी। लेकिन पिछले दो चुनावों से बीजेपी की सत्ता काबिज है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.