Sunday, Oct 02, 2022
-->
separatist-leader-yasin-malik-convicted-in-jammu-kashmir-terror-funding-case-kmbsnt

कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक टेरर फंडिंग केस में दोषी करार

  • Updated on 5/19/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कश्मीरी अलगाववादी नेता यासीन मलिक जम्मू कश्मीर टेरर फंडिंग मामले में दोषी करार दिया गया है। आज गुरुवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) की अदालत ने यासीन मलिक को आधिकारिक तौर पर टेरर फंडिंग मामले में दोषी ठहराया है। 

 

हालांकि अभी सजा क्या मिलेगी इस पर फैसला नहीं आया है। यासीन मलिक की सजा को लेकर अदालत 25 मई को फैसला सुनाएगी। जिन धाराओं के तहत यासिन पर मुकदमें दर्ज हैं उनके आधार पर उसे अधिकतम आजीवन कारावास की सजा सुनाई जा सकती है।  

दिल्‍ली के उप राज्‍यपाल अनिल बैजल ने पद से दिया इस्‍तीफा

एयरफोर्स के 4 जवानों की हत्या का आरोप
यासीन जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट से जुड़ा है। साल 2019 में केंद्र सरकार ने इस संगठन पर प्रतिबंध लगा दिया था। यासीन अभी तिहाड़ जेल में बंद है। यासीन पर 1990 में एयरफोर्स के 4 जवानों की हत्या का आरोप है, इस आरोप को वो कबूल कर चुका है। 

मुंडका अग्निकांड: AAP ने की दिल्ली BJP अध्यक्ष पर ‘गैर इरादतन हत्या’ का मामला दर्ज करने की मांग 

यासीन मलिक ने अपने गुनाह कबूल किए
गौरतलब है कि बीते दिनों यासीन मलिक ने अपने गुनाह कबूल किए थे। उसने इस बात को कबूल किया था कि वो कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल था। उसने आपराधिक साजिशें भी रची और उस पर लगी देशद्रोह की धारा बिल्कुल सही है। यासीन कश्मीरी राजनीति में मिलक सक्रिय रहा है और यहां के युवाओं को देश के खिलाफ भड़काने में उसका अहम रोल माना जाता है।

 

comments

.
.
.
.
.