Monday, Jan 21, 2019

बेहतर स्वास्थ्य और अच्छी नींद के लिए बॉडी क्लॉक के हिसाब तय करें अपना शेड्यूल

  • Updated on 12/26/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अगर आप अच्छी नींद और अच्छा स्वास्थ्य चाहते हैं तो आपको अपनी बॉडी क्लॉक के हिसाब से अपने काम की शिफ्ट तय करनी होगी। हालांकि विभिन्न संस्थानों में काम करने वाले लोगों के लिए अपने मुताबिक शिफ्ट तय कर पाना इतना आसान नहीं है। लेकिन अपने स्वास्थ्य के लिए आपको ऐसा करना ही होगा। ऐसा करने से आपको कई तरह के लाभ होंगे। इसका सबसे बड़ा फायदा उन लोगों को होगा जिनकी नींद पूरी नहीं हो पाती।

कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित सर्जरी भारत में लॉन्च

जर्मनी की एक फैक्ट्री में कुछ साल पहले वैज्ञानिकों ने एक रियल वर्ल्ड  रिसर्च की, जिसमें उन्होंने जल्दी उठना पसंद करने वाले कर्मचारियों को दिन की शिफ्ट में काम दिया जबकि देर से सोने वाले कर्मचारियों को रात की शिफ्ट का काम दिया गया। इस बदलाव के वैज्ञानिकों को बेहद सकारात्मक परिणाम मिले।

फैक्ट्री के ज्यादातर कर्मचारियों को हफ्ते के वर्किंग डे में भी 1 घंटा एक्सट्रा सोने को मिल गया। कुल मिलाकर हम आपको यह बताना चाहते हैं कि जब उनके वर्किंग शेड्यूल को उनकी इंटरनल क्लॉक के हिसाब से बनाया गया तो उन्हें 16 प्रतिशत अतिरिक्त नींद मिली। इसके साथ ही उनके काम में भी सुधार देखा गया। यानी जब हम अपनी इंटरनल क्लॉक के हिसाब से अपनी दिनचर्या बनाते है तो हम हर तरीके से तनाव मुक्त रहते हैं।

कंपनियां कर्मचारियों को दे रही हैं मन मुताबिक शिफ्ट चुनने का मौका
हालांकि बॉडी क्लॉक के हिसाब से कर्मचारियों को शिफ्ट देना विभिन्न देशों की कंपनियों के लिए एक चुनौती भरा कार्य है, लेकिन कुछ कंपनियों ने इस बात पर अमल करना शुरू कर दिया है। साउथवेस्ट एयरलाइंस, यूएस नेवी और कुछ अन्य कंपनियां अपने कर्मचारियों को शिफ्ट चुनने का मौका देती हैं।

योगी के मंत्री राजभर ने भाजपा पर लगाया भगवान को बांटने का आरोप

वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर कंपनियां कर्मचारियों की बॉडी क्लॉक के हिसाब से उनकी सिफ्ट तय करती हैं तो वह एक बेहतर नींद भी ले सकेंगे और उनकी कार्यकुशलता भी बढ़ेगी। यूनिवर्सिटी ऑफ कोलोराडो के असिस्टेंट प्रफेसर सिलेन वेटर कहते हैं, दुनियाभर में करीब 80 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जिनका वर्क शेड्यूल उनकी बॉडी क्लॉक के हिसाब से नहीं है। लोगों के तनावग्रस्त हो जाने का यह भी एक प्रमुख कारण है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.