Monday, Apr 22, 2019

सेशल्स के राष्ट्रपति ने पानी के भीतर से की समुद्रों को बचाने की अपील

  • Updated on 4/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। हिंद महासागर (Indian ocean) में स्थित द्वीपीय देश सेशल्स (seychelles) के राष्ट्रपति डैनी फौरे (danny faure) ने रविवार को विश्वभर से पानी के अंदर से समुद्रों को बचाने की अपील की। ग्लोबल वार्मिंग (global warming) के प्रति लोगों को सचेत करते हुए उन्होंने कहा, 'हमारी धरती के नीले हृदय(समुद्र) को मजबूती से संरक्षण की जरूरत है। यह मुद्दा बाकी सभी मुद्दों से ज्यादा महत्वपूर्ण है और इसे अगली पीढ़ी पर नहीं छोड़ा जा सकता। हमारे पास ज्यादा समय नहीं है।

 वैज्ञानिकों ने तेल पीने वाले एक नए जीवाणु का लगाया पता 

मालूम हो कि दुनिया के तमाम देशों की तरह सेशल्स भी ग्लोबल वार्मिंग से जूझ रहा है। डैनी फौरे ने यह अपील हिंद महासागर में ब्रिटेन की अगुवाई में शुरू किए गए वैज्ञानिक अभियान के मौके पर की। यह अभियान हिंद महासागर की गहराई पता लगाने के लिए किया गया है।

सिख कट्टरवाद को कनाडा ने अपनी रिपोर्ट से हटाया, भारत ने जताई नाखुशी

जानकारी के लिए  बता दें कि पृथ्वी के दो-तिहाई हिस्से पर समुद्र की मौजूदगी है। समुद्र के कई हिस्से ऐसे हैं जिनकी गहराई अभी तक मापी नहीं गई है। बहुद्वीपीय देश सेशल्स पर ग्लोबल वार्मिंग का खतरा मंडरा रहा है।

ग्लोबल वार्मिंग के चलते ग्लेशियर तेजी से पिघल रहे हैं, जिनसे समुद्रों में पानी की मात्रा तेजी से बढ़ रही है। वैज्ञानिकों का मानना है कि अगर पानी की मात्रा इसी तेजी से बढ़ती गई तो आने वाले समय में कई देश समुद्र में समां जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.