Wednesday, Jan 29, 2020
shah faesal party shehla rashid joins supreme court against article 370

#Article370 को हटाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगी शेहला रशीद

  • Updated on 8/5/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मोदी सरकार के जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के फैसले पर जहां देश  में काफी खुशी का माहौल देखने को मिल रहा है। वहीं कोई ऐसा भी है जो अमित शाह के  इस प्रस्ताव से काफी निराश है। शाह  पार्टी से जुड़ी  शेहला रशीद ने कहा कि हम  केंद्र सरकार के इस फैसले का विरोध करेंगे और सुप्रीम कोर्ट में चुनौती भी देंगे। 

#370gaya: आडवाणी बोले, जनसंघ की स्थापना के बाद आज हुआ वादा पूरा, दी मोदी और शाह को बधाई


गुलाम नबी आजाद बोले- विपक्षी दलों की बैठक के बाद ही राष्ट्रपति के पास जाने का लेंगे फैसला

हम केंद्र का विरोध दिल्ली औऱ बेंगलुरु में करेंगे। आपको बता दें कि इनके अलावा पीडीपी सांसदों नजीर अहमद लवाय और मीर मोहम्मद फैयाज ने अमित शाह के इस फैसले का विरोध करते हुए  संविधान की कॉपी फाड़ दी। वहीं पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने मोदी सरकार के इस फैसले को भारतीय लोकतंत्र का सबसे काला दिन बताया है।

पाकिस्तानी मीडिया में मचा बवाल 
पाकिस्तानी अखबारों में कई नाकरात्मक मुद्दों पर जोर दिया जा रहा है। वहां की मीडिया फिजूल बातें लिखकर कश्मीरी लोगों को भड़काने का काम कर रही है। उस अखबार ने इस फैसले पर लिखा है, "आर्टिकल 370 खत्म करने पर फिलिस्तीनियों की तरह कश्मीरी भी अब  वेतनहीन हो जाएंगे। क्योंकी करोड़ों की संख्या में जो लोग कश्मीरी नहीं हैं वो वहां आकर बसने लगेंगे और उनकी जमीन, संसाधनों और नौकरियों पर कब्जा कर लेंगे"।

मोदी के इस फैसले से बेहद खुश नजर आईं कंगना, कहा- देश को ये आजादी मुबारक...

मोदी सरकार पर कस रहे हैं तंज 
साथ ही अखबार ने लिखा कि, भारत के इस फैसले के बाद कश्मीर की आबादी और धार्मिक स्थिति सब बदल जाएगा। दूसरी तरफ एक अन्य पाकिस्तानी अखबार 'डॉन' ने लिखा, "भारत ने संसद में कई विरोध के बावजूद भी कश्मीर का खास दर्जा खत्म करने के लिए प्रस्ताव रखा है"। इसी के साथ अखबार लिखता है कि, "अब पूरे कश्मीर को ये डर सता रहा है कि उनका इलाका मुस्लिमों की जगह हिंदुओ से भर जाएगा"।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.