Wednesday, Apr 08, 2020
shani dev saturday eat these things, there will be immense benefits

शनिदेव के प्रकोप से बचना है तो जरूर खायें ये चीजें, होगा अपार लाभ

  • Updated on 3/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शनिवार (Saturday) का दिन शनिदेव (shanidev) की पूजा के लिए क्षेष्ठ माना जाता है। ज्योतिषशास्त्र (Jyotiḥśāstra) के अनुसार शनिदेव को न्याय का देव कहते है क्योंकि ये लोगों के कर्म के आधार पर फल देते हैं। 

लोग शनिदेव की पूजा करते है ताकि उनके प्रकोप से बच सकें। शनिदेव के प्रकोप से बचने के लिए कुछ उपाओं के बताया गया है जिसमें शनि से संबंधित चीजों का सेवन जरूर करें। 

14 साल बाद आया ऐसा योग, शनिश्चरी अमावस्या के दिन ऐसे पाए शनि प्रकोप से छुटकारा

काले तिल के सेवन से मिलेगा लाभ
शनिदेव को खुश करने के लिए काले तिल का सेवन लाभकारी माना जाता है। माना जाता है कि काले तिल से शनि के प्रकोप को कम किया जा सकता है। 

वहीं शनिवार के दिन लोगों को खिचड़ी खाने की सलाह दी जाती है, जिसमें खासकर उड़द की दाल की खिचड़ी खाने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं और उनके प्रकोप से मुक्ति मिलती है। 

दुर्भाग्य से बचने के लिए गुरुवार को न करें ये काम, मिलेगा लाभ

सरसो के तेल का जरूर करें इस्तेमाल
सरसो का तेल शनिदेव को चढ़ाया जाता है और इससे बनी चीजों का शनिवार को सेवन करने से लाभ मिलता है। सरसो के तेल से बनी चीजों का सेवन इस दिन जरूर करना चाहिए, इसलिए सरसों के तेल से बनी सब्जी, दाल खायें। काले चने के सेवन से शनि के दोषो से मुक्ति मिलती है।

इससे जो भी आपके अटके कार्य होंगे वे बनने लगेंगे। एक मान्यता ये भी है कि शनिवार के दिन गुलाब जामुन का सेबन करने से शनि शांत और प्रसन्न होते हैं। 

शनिदेव के प्रकोप से अगर बचना चाहते हैं आप तो भूलकर भी न करें ये 5 काम

भूल कर भी न करे इन चीजों का सेवन
इस सभी चीजों के सेवन करने के अलावा शनिवार को ये भी ध्यान रखना होगा कि क्या न खाए। नहीं तो शनिदेव नराज भी हो सकते है। शनिवार के दिन मांस, मछली और शराब का सेवन बुल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि शनिवार के दिन तामसिक चीजों के सेवन करने से शनि नराज होकर अशुभ फल देते हैं। 

हरिद्वारः गंगा में डुबकी लगाने निकले तीन दोस्तों की दर्दनाक मौत

मसूर की दाल और दूध शिनिदेव को करता है क्रोधित
ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शनिवार के दिन मसूर की दाल का सेवन न करें, क्योंकि मसूर की दाल मंगल ग्रह से संबधित है। इसलिए शनिावार के दिन इसे खाने से व्यक्ति के जीवन में क्रोध और विरोध की भावना की वृद्धि होती है।

शनिवार को सादा दूध का नहीं पिना चाहिए। क्योंकि सादा दूध शुक्र ग्रह से संबंधित है और शनि-शुक्र एक दूसरे के विपरीत माने जाते है। इससे साथ ही दही के सफेद रंग और दूध से बने होने के कारण इसका भी संबंध शुक्र से माना जाता है इसलिए इसके इस्ते माल से भी बचाना चाहिए। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.