Thursday, May 13, 2021
-->
sharad-pawar-delhi-violence-delhi-assembly-election-2020-bjp-congress-ncp

दिल्ली हिंसा: शरद पवार का BJP पर बड़ा आरोप, कहा- इसलिए जली दिल्ली

  • Updated on 3/2/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) को लेकर सभी पार्टियां अपनी-अपनी प्रतिक्रिया दे रही है इसी बीच एनसीपी (NCP) के नेता शरद पवार (Sharad Pawar) ने रविवार को एक सार्वजनिक कार्यक्रम में दिल्ली हिंसा के लिए बीजेपी (BJP) दो दोषी ठहराया है।

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने दिल्ली में सांप्रदायिक उन्माद को भड़काने का काम किया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि वे दिल्ली में चुनाव हार गई थी। 

 

कई दिनों से जल रही दिल्ली
शरद पवार ने कहा कि राष्‍ट्रीय राजधानी पिछले कई दिनों से जल रही थी। केंद्र की मोदी सरकार दिल्‍ली विधानसभा चुनाव जीत नहीं सकी थी और उसने सांप्रदायिकता फैलाकर समाज को विभाजित करने का काम किया। दिल्‍ली हिंसा में अब तक 46 लोगों की मौत हुई है।

 

903 लोगों को किया गिरफ्तार  254 एफआईआर दर्ज
उत्तर-पूर्वी दिल्ली हिंसा में जितने भी लोगों को गोलियां लगी हैं, वह .32 बोर की हैं। कुछ को 9 एमएम की गोलियां भी लगी हैं। हैरानी इस बात की है कि आम आदमी के पास .32 बोर मिल सकता है, लेकिन लोगों को 9 एमएम की गोली कैसे लगी? यानि, वह हथियार कहां से आए जिनसे 9 एमएम बोर के कारतूस चलाए जा सकते हैं? जांच के लिए पुलिस ने अब तक करीब 300 से अधिक कारों, 200 से अधिक बाइक समेत कई टन पत्थर और जला सामान जब्त किया है, जिनकी फोरेंसिक जांच शुरू हो गई है।

 

आगजनी, लूटपाट या संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वाले आरोपियों की तालाश
एसआईटी को उन लोगों की पहचान करने का काम सौंपा गया है जिन्होंने चार दिनों में और पूरी उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगों के दौरान आगजनी, लूटपाट या संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया है।

यह शक है कि आपराधिक रिकॉर्ड वाले लोगों सहित कई स्थानीय अपराधियों ने जाफराबाद, कर्दमपुरी, करावल नगर, मौजपुर, भजनपुरा और अन्य क्षेत्रों में स्थिति का फायदा उठाया। शुरुआती तफ्तीश में पता चला है कि दंगों में .32 और 9 एमएम पिस्टल का इस्तेमाल हुआ था। शातिर अपराधी भी इस तरह के हथियारों का इस्तेमाल करते हैं। जबकि बवाल की टाइमिंग भी फिक्स थी, जिसके लिए दोपहर 2 से 3 बजे का वक्त चुना गया था।

comments

.
.
.
.
.