Wednesday, Jun 16, 2021
-->
sharmistha mukherjee pchidambaram twitter war congress shameful defeat delhi election

AAP की जीत पर खुश हुए चिदंबरम तो शर्मिष्ठा बोलीं- क्या हमें अपनी दुकान बंद देनी चाहिए?

  • Updated on 2/12/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) में कांग्रेस (Congress) की शर्मनाक हार के बाद अब पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री पी चिदंबरम (P. Chidambaram) ने आम आदमी पार्टी की जीत पर खुशी जाहिर की और दिल्ली वालों का सलाम किया। इस पर कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता शर्मिष्ठा मुखर्जी (Sharmistha Mukherjee) ने नाराजगी जाहिर की है। शर्मिष्ठा ने चिदंबरम से पूछा है कि क्या कांग्रेस ने राज्यों में बीजेपी को हराने का काम अन्य क्षेत्रीय दलों को जिम्मे सौंप दिया है। 

शर्मिष्ठा मुखर्जी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर चिदंबरम से पूछा है 'उचित सम्मान के साथ, बस जानना चाहती हूं कि क्या कांग्रेस ने बीजेपी को राज्य की पार्टियों को हराने का काम आउटसोर्स किया है? यदि नहीं, तो फिर कांग्रेस की हार पर मंथन करने के स्थान पर आम आदमी पार्टी की जीत की खुशी में क्यों डूबे हुए हैं? और अगर ऐसा है तो हमें (प्रदेश कांग्रेस कमेटी) अपनी दुकान पंद कर देनी चाहिए। 

बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी की प्रचंड जीत पर पी चिदंबरम ने ट्वीट कर लिखा था कि AAP की जीत हुई और ठगी की हार। दिल्ली के लोग, जो भारत के सभी हिस्सों से हैं, उन्होंने बीजेपी के ध्रुवीकरण, विभाजनकारी और खतरनाक एजेंडे को हराया है। मैं दिल्ली के लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने 2021 और 2022 में अपना चुनाव कराने वाले अन्य राज्यों के लिए एक उदाहरण पेश किया है। 

दिल्ली चुनाव: कांग्रेस का हाल-बेहाल, 63 सीटों पर जमानत जब्त

‘भाजपा का विभाजनकारी व खतरनाक एजेंडा हारा’
दिल्ली विधानसभा चुनाव हार कर भी कांग्रेस इस बात से संतुष्ट है कि बीजेपी हार गई। पार्टी का कहना है कि जनता ने बीजेपी के विभाजनकारी और खतरनाक एजेंडे को पराजित कर दिया है। जहां तक कांग्रेस का सवाल है तो वह चुनाव हारी है, लेकिन इससे हताश नहीं है। चुनाव परिणाम आने से पहले ही कांग्रेस ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर रुझानों के आधार पर अपनी हार की नैतिक जिम्मेदारी ले ली थी। 

प्रचंड जीत के बाद LG से मिलने पहुंचे CM केजरीवाल, 16 को शपथग्रहण

कांग्रेस करेगी संगठन का नए सिरे से निर्माण
एक भी सीट न जीत पाने का गम चतुराई से छिपाते हुए कांग्रेस नेताओं ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी की जनता ने बीजेपी के ‘विभाजनकारी व खतरनाक’ एजेंडे को पराजित कर दिया है। जहां तक कांग्रेस के शून्य पर बने रहने की बात है तो पार्टी दिल्ली में संगठन का नए सिरे से निर्माण करेगी और एक सजग विपक्ष की भूमिका निभाएगी। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने हार की नैतिक जिम्मेदारी स्वीकार की।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.