Sunday, Feb 28, 2021
-->
shashi tharoor raise questions dcgi''''s approval to covaxin kmbsnt

Covaxin को DCGI की मंजूरी पर शशि थरूर ने उठाए सवाल

  • Updated on 1/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने आज कोविड शील्ड और कोवैक्सीन के इमरजेंसी उपयोग को मंजूरी दे दी है। इस पर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने देशवासियों को बधाई दी है तो वहीं कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi tharoor) ने इस पर सवाल उठाते हुए इसे खतरनाक बताया है। 

कोवैक्सीन का अभी तक तीसरे चरण का परीक्षण नहीं हुआ है। इसको समय से पहले मंजूरी दी गई है जो की खतरनाक हो सकती है। थरूर ने ट्वीट करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से  सवाल किया है कि कृपया स्पष्ट करना चाहिए। पूर्ण परीक्षण समाप्त होने तक इसके उपयोग से बचा जाना चाहिए। भारत इस बीच एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के साथ शुरू कर सकता है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने आधिकारिक हैंडल से लगातार तीन ट्वीट कर देशवासियों को वैक्सीन की आपात मंजूरी पर बधाई दी है। उन्होंने लिखा है कि एक उत्साही लड़ाई को मजबूत करने के लिए एक निर्णायक मोड़! DCGI ने भारत के सीरम संस्थान और भारत बायोटेक के टीकों को स्वीकृति प्रदान करते हुए स्वस्थ और COVID मुक्त राष्ट्र के लिए मार्ग को तेज किया है। भारत को बधाई। हमारे मेहनती वैज्ञानिकों और नवप्रवर्तनकर्ताओं को बधाई।  

कोविड-19 हॉटस्पॉट बना चेन्नई का आलीशान होटल, 85 लोग पाए गए संक्रमित

दोनो वैक्सीन मेड इन इंडिया- पीएम मोदी
एक अन्य ट्वीट करते हुए पीएम मोदी ने लिखा है कि इस पर हर भारतीय को गर्व होगा कि जिन दो टीकों को आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी गई है वे भारत में बने हैं! एक आत्मानिभर भारत के सपने को पूरा करने के लिए यह हमारे वैज्ञानिक समुदाय की उत्सुकता को दर्शाता है, जिसके मूल में देखभाल और करुणा है।

पीएम ने डॉक्टरों समेत कोरोना वारियर्स को दिया धन्यवाद
प्रधानमंत्री ने  ट्वीट करते हुए लिखा कि हम डॉक्टरों, चिकित्सा कर्मचारियों, वैज्ञानिकों, पुलिस कर्मियों, स्वच्छता कार्यकर्ताओं और सभी कोरोना योद्धाओं द्वारा विपरीत परिस्थितियों में किए गए उत्कृष्ट कार्यों के लिए अपना आभार दोहराते हैं। हम कई लोगों की जान बचाने के लिए उनके प्रति सदा आभारी रहेंगे।

देश के सभी राज्यों समेत, केंद्र शासित प्रदेशों में हुआ कोरोना टीका का पूर्वाभ्यास

इन लोगों को दी जाएगी वैक्सीन 
वहीं, बताया जा रहा है कि शुरूआत में देश के 30 करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए सरकार 70 हजार टीकाकर्मी और 30,000 निजी टीकाकर्मियों की सहायता लेगी। साथ ही कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए हेल्थ केयर वर्कर का पंजीकरण शुरू किया गया है। कई पंजीकृत अस्पताल और नर्सिंग होम ने अपने मानव संसाधन संबंधी पूरा ब्योरा दिल्ली सरकार के परिवार कल्याण निदेशालय को भेज दिया है।

ये भी पढ़ें:-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.