Thursday, Feb 27, 2020
Sheikh Hasina Bangladesh India CAA Narendra Modi Afghanistan

CAA-NRC के समर्थन में आया बांग्लादेश, बताया- भारत का आंतरिक मामला

  • Updated on 1/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) ने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) को भारत का आंतरिक मामला करार दिया, लेकिन इसी के साथ यह भी कहा कि कानून आवश्यक नहीं था। सीएए के मुताबिक पाकिस्तान (Pakistan), बांग्लादेश (Bangladesh) और अफगानिस्तान (Afghanistan) में धार्मिक प्रताडऩा की वजह से 31 दिसंबर 2014 तक वहां से भारत आए हिंदू, जैन, सिख, पारसी, बौद्ध और ईसाई समुदाय के लोगों को भारतीय नागरिकता दी जाएगी। इस विवादित कानून के खिलाफ भारत में कई जगहों पर प्रदर्शन चल रहे हैं।           
CAA के खिलाफ महिलाओं का प्रदर्शन जारी, पुलिस पर लगा कंबल छीनने का आरोप

हसीना ने क्या कहा
हसीना ने एक साक्षात्कार (Interview) में भारत के नए नागरिकता कानून के संदर्भ में कहा, हम नहीं समझ रहे हैं कि क्यों ऐसा किया। यह जरूरी नहीं था। उनका यह बयान बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए के अब्दुल मोमेन (Abdul Moman) के उस बयान के बाद आया है कि सीएए और एनआरसी (NRC) भारत के आंतरिक मामले’’ हैं, लेकिन इस बात पर चता जाहिर की थी कि वहां किसी भी तरह की अनिश्चितता का पड़ोस पर असर होगा।
बांग्लादेश: भ्रष्टाचार के आरोप में पहले हिंदू मुख्य न्यायधीश के खिलाफ वारंट जारी

भारत जाने से किया इंकार
अखबार ने कहा कि बांग्लादेश की 16.1 करोड़ आबादी में 10.7 फीसद हिंदू और 0.6 फीसद बौद्ध हैं , तथा उसने धार्मिक उत्पीडन की वजह से किसी के भी भारत जाने से इनकार किया है। संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की राजधानी अबु धाबी में हसीना ने यह भी कहा कि भारत से भी लोगों के बांग्लादेश पलायन करने की कोई जानकारी नहीं है।         
दावोस जाने वाले भारतीय प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व करेंगे पीयूष गोयल

भारत के अंदर लोग कर रहे है मुश्किलों का सामना
उन्होंने कहा भारत से पलट कर कोई प्रवासी नहीं आ रहे। लेकिन भारत के अंदर, लोग कई मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। हसीना ने कहा यह एक आंतरिक मामला है। बांग्लादेशी प्रधानमंत्री ने कहा बांग्लादेश ने हमेशा यह कहा है कि सीएए और एनआरसी भारत के आंतरिक मामले हैं। भारत सरकार ने भी अपनी तरफ से बार-बार दोहराया है कि एनआरसी भारत की एक अंदरूनी कवायद है और प्रधानमंत्री मोदी (Narendra Modi) ने व्यक्तिगत रूप से अक्टूबर (October) 2019 के मेरे नई दिल्ली के दौरे के दौरान मुझे इसे लेकर आश्वस्त किया था।उन्होंने कहा कि बांग्लादेश और भारत के रिश्ते मौजूदा दौर में सर्वश्रेष्ठ हैं और व्यापक क्षेत्रों में सहयोग हो रहा है।           
   

comments

.
.
.
.
.