गंदगी देख भड़कीं शीला दीक्षित, पहले ही दिन कार्यालय में साफ-सफाई के दिए निर्देश

  • Updated on 1/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद का कार्यभार संभालने के बाद वहां तैनात स्टाफ को पहले ही दिन शीला दीक्षित के आक्रोश का शिकार होना पड़ा। उन्होंने राजीव भवन में तैनात स्टॉफ को 2 दिन के भीतर पूरी साफ-सफाई कराने के निर्देश दिए हैं।

दरअसल वजह यह थी कि वीरवार की दोपहर में जब प्रदेश अध्यक्ष राजीव भवन पहुंची, तो वह वहां पहले से मौजूद दिल्ली के पूर्व मंत्री रमाकांत गोस्वामी के साथ अनायास ही भवन को देखने के लिए पहली मंजिल पर चली गईं। लेकिन वहां हॉल में व्याप्त गंदगी को देखकर वह भड़क गईं और उन्होंने कार्यालय स्टाफ को वहीं तलब कर लिया।

विपक्ष का AAP पर निशाना, कहा- शेल्टर होम की असलियत के बाद भी प्रचार पर करोड़ों फूंकते हैं CM

गत् दिवस कार्यभार संभालने के दौरान राजीव भवन की दीवारों पर लगाए गए शीला दीक्षित के कई होर्डिंग्स उलटे पड़े हुए थे और वहां भी गंदगी दिखाई दी।

 सावधान! दिल्ली-गुड़गांव एक्सप्रेस वे पर अब धीमी होगी रफ्तार, ये है वजह

सफाई की पूरी तरह से व्यवस्था नहीं थी। कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों के बारे में पूरी जानकारी लेने के बाद भवन की दूसरी और तीसरी मंजिल स्थित कमरों में भी पहुंची तो वहां भी कई टूटी हुई कुर्सियां रखी हुईं थी और डस्टबिन भी गंदा था। कार्यालय टीवी के तार भी लटक रहे थे।

कांग्रेस से दिल्ली में गठबंधन पर AAP के गोपाल राय ने हाथ खड़े किए

उसके बाद शीला दीक्षित ने पूरे स्टॉफ को अगले दो दिन के अंदर साफ-सफाई की पूरी व्यवस्था करने के निर्देश दिए। वह करीब 2 घंटे तक कार्यालय में रहीं और उसके बाद एक अन्य कार्यक्रम में भाग लेने के लिए चली गईं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.