Saturday, Aug 15, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 14

Last Updated: Fri Aug 14 2020 09:42 PM

corona virus

Total Cases

2,512,245

Recovered

1,796,249

Deaths

49,005

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA572,734
  • TAMIL NADU326,245
  • ANDHRA PRADESH273,085
  • KARNATAKA203,200
  • NEW DELHI150,652
  • UTTAR PRADESH145,287
  • WEST BENGAL110,358
  • BIHAR98,370
  • TELANGANA88,396
  • GUJARAT76,569
  • ASSAM71,796
  • RAJASTHAN58,027
  • ODISHA54,630
  • HARYANA45,614
  • MADHYA PRADESH43,414
  • KERALA39,708
  • PUNJAB29,013
  • JAMMU & KASHMIR27,489
  • JHARKHAND20,950
  • CHHATTISGARH12,148
  • UTTARAKHAND11,615
  • GOA8,712
  • TRIPURA6,497
  • PUDUCHERRY5,382
  • MANIPUR3,753
  • HIMACHAL PRADESH3,536
  • NAGALAND2,781
  • ARUNACHAL PRADESH2,155
  • LADAKH1,688
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,555
  • CHANDIGARH1,515
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS1,490
  • MEGHALAYA1,062
  • SIKKIM866
  • DAMAN AND DIU838
  • MIZORAM620
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
shiv sena asks where was bjp modi minister amit shah when delhi was ablaze in violence

शिवसेना ने पूछा- जब दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो अमित शाह कहां थे?

  • Updated on 2/28/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। शिवसेना (Shiv Sena) ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में दिल्ली में अशांति को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की शुक्रवार को आलोचना करते हुए कहा कि जब राष्ट्रीय राजधानी हिंसा में जल रही थी तब वह कहीं नहीं दिखे। मराठी के दैनिक अखबार में एक संपादकीय में कहा गया है कि शाह ने हाल ही में संपन्न दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार, भाजपा उम्मीदवारों के लिए समर्थन जुटाने के वास्ते घर-घर जाकर पर्चे बांटने में भरपूर वक्त दिया। 

#IPS श्रीवास्तव होंगे पटनायक की जगह दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर

भाजपा के पूर्व सहयोगी दल ने कहा कि दिल्ली पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत आती है लेकिन अब यह हैरान करने वाला है कि जब 38 लोगों की जान चली गई और सार्वजनिक तथा निजी संपत्ति को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचा तब शाह कहीं नहीं दिखे। शिवसेना ने कहा, ‘‘अगर इस समय कांग्रेस या कोई अन्य पार्टी केंद्र में सत्ता में होती और भाजपा विपक्ष में होती तो पार्टी गृह मंत्री का इस्तीफा मांगती और अपनी मांग को लेकर मोर्चा निकालती।’’ 

शरद पवार की #NCP का आरोप- दिल्ली में 'गुजरात मॉडल' दोहराया, शाह दें इस्तीफा

संपादकीय में कहा गया, ‘‘अब ये सब नहीं होगा क्योंकि भाजपा सत्ता में है और विपक्ष कमजोर है। लेकिन फिर भी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शाह का इस्तीफा मांगा है।’’ शिवसेना ने दिल्ली में बिगड़ रहे हालात को काबू में करने के लिए की गई कार्रवाई में देरी पर भी सवाल खड़े किए। उसने कहा, ‘‘जब गृह मंत्री 24 फरवरी को अहमदाबाद में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प का स्वागत कर रहे थे तो दिल्ली में आईबी के एक अधिकारी की हत्या कर गई।’’ 

दिल्ली में जुमे के मौके पर दंगा प्रभावित इलाकों में विशेष सुरक्षा इंतजाम

अखबार ने कहा, ‘‘तीन दिन बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शांति की अपील की और एनएसए अजीत डोभाल लोगों से बात करने के लिए दिल्ली की सड़कों पर आए। नुकसान होने के बाद इन सभी कदमों की अब क्या जरूरत है?’’ संपादकीय में कहा गया है, ‘‘अगर विपक्ष संसद में दिल्ली दंगों का मुद्दा उठाता है तो क्या उसे राष्ट्र विरोधी कहा जाएगा?’’

पोस्टमार्टम रिपोर्ट : हत्यारे ने अंकित शर्मा पर चाकू से किए थे 400 से ज्यादा वार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.