Monday, Dec 09, 2019
shiv sena government could not submit necessary support letter for formation raj bhavan

शिवसेना सरकार गठन को लेकर आवश्यक समर्थन पत्र जमा नहीं कर सकी: राजभवन

  • Updated on 11/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन को लेकर सियासत पल-पल अपनी करवटें बदल रही हैं। एक तरफ बीजेपी (Bjp)-शिवसेना (Shivsena) गठबंधन टूट गई । तो दूसरी तरफ शिवसेना, कांग्रेस (Congress) और एनसीपी (Ncp) गठबंधन के साथ सरकार गठन की तैयारी शुरु कर दी है। लेकिन शिवसेना को उस समय बड़ा झटका लगा जब महाराष्ट्र (Maharashtra) में सरकार गठन के लिए राज्यपाल मांगा है। लेकिन  राज्यपाल ने समय देने से इंकार कर दिया

शिवसेना ने सरकार गठन के लिए मांगा समय, राज्यपाल ने किया इंकार

वहीें राजभवन की ओर से यहां जारी बयान में कहा गया कि शिवसेना ने समर्थन पत्र जमा करने के लिए तीन दिन का समय और मांगा था, लेकिन राज्यपाल ने इस अनुरोध को स्वीकार नहीं किया। इसमें कहा गया है कि शिवसेना नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने कोश्यारी से मुलाकात की और सरकार बनाने की इच्छा प्रकट की।     

महाराष्ट्र चुनाव: राज्यपाल ने NCP को भेजा न्यौता, बोली कांग्रेस से बात कर देंगे जवाब

बयान के अनुसार, ‘‘शिवसेना समर्थन का जरूरी पत्र नहीं जमा कर सकी। शिवसेना ने समर्थन पत्र जमा करने के लिए समयसीमा तीन दिन और बढ़ाने का अनुरोध करते हुए पत्र दिया था जो सोमवार शाम 7:30 बजे समाप्त हो गयी। इसमें कहा गया, ‘‘राज्यपाल ने और समय देने में असमर्थता प्रकट की।     

शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत के सीने में दर्द, लीलावती अस्पताल में कराया गया भर्ती

राज्यपाल से मुलाकात के बाद शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray) ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी पार्टी का सरकार बनाने का दावा अब भी कायम है क्योंकि दोनों दलों ने शिवसेना नीत सरकार को सैद्धांतिक रूप से समर्थन की सहमति जताई है। उन्होंने कांग्रेस और राकांपा का नाम नहीं लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.