Saturday, Dec 05, 2020

Live Updates: Unlock 7- Day 5

Last Updated: Fri Dec 04 2020 10:05 PM

corona virus

Total Cases

9,606,810

Recovered

9,056,668

Deaths

139,700

  • INDIA9,606,810
  • MAHARASTRA1,837,358
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA887,667
  • TAMIL NADU784,747
  • KERALA614,674
  • NEW DELHI586,125
  • UTTAR PRADESH551,179
  • WEST BENGAL526,780
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA320,017
  • TELANGANA271,492
  • RAJASTHAN268,063
  • HARYANA237,604
  • CHHATTISGARH237,322
  • BIHAR236,778
  • ASSAM212,776
  • GUJARAT209,780
  • MADHYA PRADESH206,128
  • CHANDIGARH183,588
  • PUNJAB153,308
  • JAMMU & KASHMIR110,224
  • JHARKHAND109,151
  • UTTARAKHAND75,784
  • GOA45,389
  • HIMACHAL PRADESH41,860
  • PUDUCHERRY36,000
  • TRIPURA32,723
  • MANIPUR23,018
  • MEGHALAYA11,810
  • NAGALAND11,186
  • LADAKH8,415
  • SIKKIM4,990
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,723
  • MIZORAM3,881
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,333
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
shiv-sena-saaamna-china-pakistan-prime-minister-agression-devendra-fadnavis-prsgnt

शिवसेना का BJP पर जोरदार हमला, सामना में लिखा- चीन को लेकर क्या है सरकार की योजना?

  • Updated on 11/21/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र में काफी समय तक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल रही शिवसेना और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच सियासी वार-पलटवार जोरों पर चल रहा है। एक बार फिर कोरोना का कहर महाराष्ट्र में बढ़ता जा रहा है। इसी के चलते शिवसेना सरकार और बीजेपी के बीच अनबन चल रही है। 

वहीँ, अपने मुखपत्र सामना में शिवसेना ने एक बार फिर अपने संपादकीय के जरिए बीजेपी पर हमला बोला है। अपने संपादकीय में शिवसेना ने चीन के साथ चल रहे तनाव और उन्हें कैसे केंद्र सरकार हैंडल कर रही है, इसे लेकर तीखा हमला बोला है। 

ओवैसी ने UAPA को बताया बेकसूर मुस्लिमों और दलितों के खिलाफ इस्तेमाल किया जाने वाला कानून

सरकार ने क्या किया?
सामना में लिखा गया है कि चीनी सैनिकों ने हिंदुस्थान की सीमा के अंतर्गत लद्दाख में घुसपैठ की। चीनी सैनिक जो भीतर आए हैं, वे वापस जाने को तैयार नहीं हैं। वहां से हटने को लेकर दोनों देशों की सेना अधिकारियों के बीच चर्चा और जोड़-तोड़ शुरू है। चीनी हमारी सीमा में घुस आए हैं लेकिन हमने चर्चा और जोड़-तोड़ का तरीका स्वीकार किया, इसे आश्चर्यजनक ही कहा जाएगा। जमीन हमारी और नियंत्रण चीनी सेना का लेकिन प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री और भाजपा के नेताओं ने चीन का नाम लेकर कुछ धौंस दिखाई हो, ऐसी तस्वीर नहीं दिखती। ये सब चेतावनी आदि पाकिस्तान के लिए सुरक्षित रखा होगा। दरअसल, शिवसेना ने सामना के संपादकीय के जरिए सवाल किया है कि सरकार इसे लेकर क्या योजना बना रही है?

Air Pollution: दिल्ली में जारी है प्रदूषण का कहर, बहुत खराब श्रेणी में दर्ज किया गया आज का AQI

हिंदुस्थान बनाम पाकिस्तान
सामना में लिखा गया है कि हिंदुस्थान के मित्र देश भूटान की सीमा में चीनी सेना घुस चुकी है और डोकलाम के पास एक गांव को उसने अपने नियंत्रण में ले लिया है। ये गांव भूटान-हिंदुस्थान की सीमा पर है। वहां चीन का घुसना हमारे लिए खतरनाक है। इसके पहले डोकलाम सीमा पर चीनी सेना घुसी ही थी और वहां हिंदुस्थानी सेना के साथ उसकी बार-बार झड़पें हो चुकी हैं। अब डोकलाम पार करके चीनी सैनिक गांव में आकर बैठ गए हैं। भूटान की संप्रभुता की रक्षा करने की जिम्मेदारी हिंदुस्थानी सेना की है। क्योंकि भूटान का कमजोर होना मतलब हिंदुस्थान की सीमा को चीरने जैसा होगा। पाकिस्तान नहीं, बल्कि चीनी सेना हमारी सीमा में सीधे घुस आई है फिर भी दिल्लीश्वर आंखें बंद करके ‘हिंदुस्थान बनाम पाकिस्तान’ की झांझ-करताल बजा रहे हैं।

पीएम मोदी ने की भारत की कोविड-19 टीका आपूर्ति रणनीति की समीक्षा, कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

श्रीनगर में तिरंगा फहराने को लेकर
शिवसेना ने श्रीनगर में तिरंगा फहराने को लेकर हुई कार्रवाई को लेकर तंज मारते हुए लिखा है,  गत चार दिनों में हिंदुस्थानी सेना ने पाक की सीमा में गोला-बारूद फेंक कर कई चौकियां और बंकर्स ध्वस्त कर दिए, ये सही है लेकिन हमारी सीमा में हमारे ही जवान मारे गए। उनमें से तिरंगे में लिपटे हुए दो जवानों की शव पेटी महाराष्ट्र में आई। ये शव पेटियां जब जवानों के गांव में पहुंचीं, उस समय महाराष्ट्र के भाजपा के नेता क्या कर रहे थे? वे मुंबई में छठ पूजा की मांग कर रहे थे। उनमें से कुछ ‘मंदिर खोलो, मंदिर खोलो’ का शंख फूंक रहे थे, वहीं कुछ लोग मुंबई मनपा से भगवा उतारने के लिए प्रेरणादायी भाषण ठोंक रहे थे।

शिवसेना ने सवाल किया है, देश के समक्ष बनी गंभीर परिस्थिति को भूलने पर और क्या होगा? कश्मीर घाटी से तिरंगे में लिपटी जवानों की शव पेटियां आ रही हैं, लेकिन श्रीनगर के लाल चौक में जाकर तिरंगा फहराना अभी भी अपराध है। मुंबई मनपा से भगवा उतारने का जिन्होंने बीड़ा उठाया है, वे श्रीनगर में जाकर तिरंगा कब फहराएंगे, ये भी साफ कर देना चाहिए। लद्दाख की सीमा में चीनी सैनिक बैठे हैं।

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, 30 नवंबर तक सभी स्कूल-कॉलेज रहेंगे बंद

शिवसेना ने बीजेपी से किया सवाल
आगे शिवसेना ने बीजेपी से सवाल करते हुए लिखा है, इसका मतलब क्या है? पाकिस्तान को आगे करके हिंदुस्थानी सेना को उस सीमा में उलझाकर रखना और अन्य सीमाओं को कमजोर करके चीनी सैनिकों की घुसपैठ करने की नीति दिख रही है। चीन ने पेंच भिड़ा दी है और हम ‘हिंदुस्थान बनाम पाकिस्तान’ की कैंची में अटक गए हैं। कश्मीर घाटी शांत होने को तैयार नहीं है। सीमा पर भिड़ंत और भीतर कमाल की कसमसाहट है। कश्मीर का मामला गंभीर है ही लेकिन चीन की आक्रामकता और घुसपैठ से नजरें हटाकर काम नहीं चलेगा।

सामना में आगे लिखा है, जिस जोश से पाकिस्तान का नाम लेकर हड़काया जाता है, उसी तेवर में चीन को भी हड़काने की आवश्यकता है। आवश्यकता पड़ने पर श्रीनगर और पाक अधिकृत कश्मीर आदि क्षेत्रों में भगवा फहराने के लिए महाराष्ट्र के भाजपा के नेताओं की नियुक्ति करनी चाहिए लेकिन चीनी सैनिक चारों तरफ से हमला कर रहे हैं। उन्हें कब रोकेंगे? चीन का क्या करेंगे? डोकलाम में चीनी सेना घुस गई। हिमाचल, अरुणाचल और उत्तराखंड की सीमा से वे घुसने की तैयारी में हैं। लद्दाख की जमीन पर वे ताल ठोंककर बैठे हैं। किसी को इसकी चिंता है क्या?

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.