Sunday, Feb 18, 2018

मदद की गुहार के लिए अब पीएम मोदी के दरबार में पहुंचे मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान

  • Updated on 2/13/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मदद की गुहार के लिए अब पीएम नरेंद्र मोदी के दरबार में पहुंच गए हैं। इससे पहले उन्होंने राजधानी में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। दोनों ही मुलाकातों में सीएम चौहान ने मध्य प्रदेश के लिए जरुरी मांगें रखी। 

यशपाल मलिक का दावा, हरियाणा के मंत्रियों और प्रदेशाध्यक्ष ने CM खट्टर के खिलाफ रची थी साजिश

जेटली से मिलने के दौरान शिवराज सिंह ने जहां केंद्र सरकार से मध्य प्रदेश के सूखा प्रभावित क्षेत्रों के लिए बाकाया 2,800 करोड़ रुपये देने की गुजारिश की। वहीं, नाबार्ड से पूंजी जुटाने को लेकर भी विस्तार से चर्चा की गई। 

मायावती बोलीं- 'मिलिटेंट' स्वयंसेवकों पर इतना भरोसा तो भागवत को क्यों चाहिए सरकारी कमांडो?

आरएसएस पर हमलावर राहुल गांधी, बोले- संघ के दवाब में पीएम मोदी ने लागू की नोटबंदी

इसके बाद सीएम शिवराज ने राजनाथ सिंह से मुलाकात कर प्रदेश सरकार के पेंडिंग बिलों को पास करने की अपील की। इन बिलों में एक विधेयक 12 साल से कम उम्र की बच्चियों से दुष्कर्म करने वालों के खिलाफ मौत की सजा का प्रावधान रखता है। 

मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह सरकार के खिलाफ सक्रिय अल्पेश ठाकोर, भाजपा को दिया बड़ा चैलेंज

टीम इंडिया के खिलाफ टी-20 सीरीज में डुमिनी होंगे दक्षिण अफ्रीका के कप्तान

बता दें कि इस साल मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में यह मांगे पूरी होती हैं तो शिवराज सरकार के पास चुनावों में कुछ कहने को होगा। अन्यथा प्रदेश में किसान, मजदूर वर्ग ही नहीं, टीचर भी परेशान चल रहे हैं। बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर भी विपक्ष सरकार पर हमलावर है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.