Sunday, Jan 23, 2022
-->
siddiqullah chowdhury trouble vehicle carrying covid19 vaccine in bengal farm laws pragnt

ममता के मंत्री की वजह से Vaccine ले जा रहे वाहन को हुई परेशानी, डायवर्ट करना पड़ा रूट

  • Updated on 1/14/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) के खिलाफ भारत (India) के टीकाकरण अभियान की तैयारियों ने बुधवार को जोर पकड़ा। विमानों के जरिए देशभर में विभिन्न हवाई अड्डों पर टीके की खेप पहुंचाई गई, जहां से ये छोटे शहरों को भेजी गई। देश भर में 16 जनवरी से टीकाकरण (Vaccination) अभियान शुरू होने जा रहा है। जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक और असम से गोवा तक देश के कोने-कोने तक कोविड-19 के टीके की डोज सावधानीपूर्वक और तेज गति से पहुंचाई गई।

CM केजरीवाल ने कहा- केंद्र ने नहीं दिया तो हम दिल्लीवालों को उपलब्ध कराएंगे फ्री वैक्सीन

ममता के मंत्री ने बंद किया राष्ट्रीय राजमार्ग
इसी तरह पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भी टीके की खेप भेजी गई। लेकिन राज्य के पूर्बा बर्धमान जिले में नए कृषि कानूनों के विरोध में ममता बनर्जी कैबिनेट में राज्य मंत्री सिद्दीकुल्ला चौधरी (Siddiqullah Chowdhury) के नेतृत्व में प्रदर्शन करे रहे लोगों द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद कर दिया गया था। जिसकी वजह से बुधवार को कोविड-19 टीके ले जा रहा एक विशेष वाहन फंस गया।

Corona Vaccination in Delhi: 81 केंद्रों से होगी शुरुआत, जानें कैसे और किस-किस दिन लगेगी वैक्सीन

वैक्सीन ले जा रहे वाहन को करना पड़ा डायवर्ट
सूत्रों ने बताया कि पूर्बा बर्धमान के पुलिस अधीक्षक भास्कर मुखोपाध्याय ने कहा कि कोलकाता को नई दिल्ली से जोड़ने वाले राजमार्ग पर ग्लासी इलाके में प्रदर्शन के कारण जाम की वजह से टीके लेकर जा रही वैन को पांच किलोमीटर तक गांव से होकर दूसरे रास्ते से आगे भेजना पड़ा। उन्होंने कहा कि वाहन की आवाजाही में हुई देरी गांव के रास्ते पांच किलोमीटर की दूरी तय करने में लगे वक्त जितनी ही थी।

गैरआधिकारिक सूत्रों ने हालांकि दावा किया कि वाहन को गांव के रास्ते से करीब 20 किलोमीटर तक ले जाने के बाद वापस राष्ट्रीय राजमार्ग पर लाया जा सका। पश्चिम बंगाल पुलिस की गाड़ी वैन को सुरक्षा प्रदान कर रही थी। वैन से टीकों की आपूर्ति बांकुरा और पुरुलिया में की जानी थी।

जानें भारत बायोटेक और सीरम से कितने डोज की हो रही खरीद, आज निकली पहली खेप

पूर्बा बर्धमान में 31,500 टीकों की आपूर्ति
सूत्रों ने कहा कि कोलकाता में प्रदेश सरकार के टीका केंद्र से रवाना हुई इस वैन ने पूर्बा बर्धमान जिले के स्वास्थ्य कार्यालय में 31,500 टीकों की आपूर्ति की और फिर बांकुरा व पुरुलिया में जीवन रक्षक दवा की आपूर्ति के लिये आगे की यात्रा पर रवाना हुई लेकिन पुलिस द्वारा त्वरित और सुगमतापूर्वक दवा की पहुंच सुनिश्चित करने के लिये बनाए गए ग्रीन कॉरीडोर के बावजूद करीब सुबह 10 बजे प्रदर्शनकारियों के रास्ता बाधित करने से इसे रोकना पड़ा।

UP में टीकाकरण से पहले लिस्ट में आई भारी गड़बड़ी, मरे हुए लोगों के नाम भी किए शामिल

मंत्री ने कहा- नहीं थी जानकारी
राज्य पुस्तकालय सेवा मंत्री चौधरी ने कहा कि उन्हें टीके की वैन की आवाजाही के बारे में जानकारी नहीं थी और उनके संज्ञान में यह बात आते ही उन्होंने रास्ता छोड़ दिया लेकिन तब तक वाहन को दूसरे रास्ते से भेज दिया गया था। 

शरद पवार की शरण में अभिनेता सोनू सूद, बीएमसी ने अपनाया कड़ा रुख

BJP नेता ने ममत सरकार पर बोला हमला
इस मामले में बीजेपी (BJP) के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने ट्वीट कर ममता सरकार पर हमला बोला। उन्होंने लिखा, 'पश्चिम बंगाल के मंत्री सिद्दीकुल्लाह चौधरी ने कृषि कानून के खिलाफ पूर्बा बर्धमान के गलसी में विरोध प्रदर्शन किया। इस प्रदर्शन के कारण बहुत देर तक रास्ता जाम होने पर लोगों ने विरोध भी किया, मंत्री जी हाथ में लकड़ी लेकर लोगों को मारते हुए देखे गए। इस राजनीतिक पाखंड को क्या समझा जाए?'

विजयवर्गीय ने अन्य ट्वीट में लिखा, 'मंत्री सिद्दीकुल्लाह चौधरी ने अपने राजनीतिक पाखंड के कारण आज कोरोनो वायरस वैक्सीन का भी रास्ता रोक दिया। इस कारण वैक्सीन ले जा रहे वाहन अन्य रास्ते से भेजा गया। ये बहुमूल्य वैक्सीन किसी दुर्घटना में या फिर किसी अन्य कारण से खराब हो जाती, तो इसका जिम्मेदार कौन होता! जरा शर्म करो!'

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.